दिल्ली हिंसा के दौरान सरेआम फायरिंग करनेवाला शाहरुख़ गिरफ्तार, मामला दर्ज

नई दिल्ली.दिल्ली के पूर्वी इलाके जफराबाद में हिंसा के दौरान सरेआम फायरिंग और पुलिस हेड कांस्टेबल पर पिस्तौल तानने वाले मोहम्मद शाहरुख को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि

नई दिल्ली. दिल्ली के पूर्वी इलाके जफराबाद में हिंसा के दौरान सरेआम फायरिंग और पुलिस हेड कांस्टेबल पर पिस्तौल तानने वाले मोहम्मद शाहरुख को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि शाहरुख को शामली जिले के बस स्टैंड से गिरफ्तार किया गया। यह कार्रवाई दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने मंगलवार दोपहर को की है। शाहरुख़ को दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर, आईटीओ लाया गया है।

इस मामले में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अजित कुमार सिंगला ने कहा कि, हम उस पिस्तौल को बरामद करने की कोशिश कर रहे है जो शाहरुख ने इस्तेमाल की थी। वहीं शाहरुख़ ने कहा कि उसने गुस्से के बीच विरोध प्रदर्शन के दौरान फायरिंग की। उसकी कोई आपराधिक पृष्ठभूमि नहीं है, लेकिन उसके पिता के खिलाफ नशीले पदार्थ और नकली मुद्रा मिलने का मामला है। आगे की जांच चल रही है।

सिंगलाने बताया कि शाहरुख ने जो पिस्तौल इस्तेमाल की थी वो मुंगेर की थी। उसने यह पिस्तौल जुराबों की फैक्ट्री में काम करनेवाले कारीगर से ली थी। उन्होंने बताया कि शाहरुख के खिलाफ आईपीसी की धारा 307, 186 और 353 के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि जरुरत पड़ने पर जांच के दौरान शाहरुख पर और धाराएं लगाई जाएंगी।

क्या है मामला?
24 फरवरी 2020 को दिल्ली के पूर्वी इलाके जाफराबाद में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थकों और विरोधियों के बीच विरोध प्रदर्शन और पत्थरबाजी हुई। देखते ही देखते प्रदर्शन हिंसा में तब्दील हो गया। इस दौरान शाहरुख ने पुलिस के सामने आठ राउंड फायरिंग की। इतना ही नही शाहरुख ने पुलिस हेड कांस्टेबल के सीने पर पिस्तौल तान दी थी। इस दौरान कांस्टेबल ने शाहरुख को पकड़ने की कोशिश की लेकिन शाहरुख के साथी पत्थरबाजी करते हुए वहां पहूंच गए और उसे बचाकर ले गए।

गौरतलब है कि दिल्ली हिंसा में एक पुलिसकर्मी और आईबी ऑफिसर समेत 47 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 200 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए है। इसके अलावा 903 लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। जबकि 254 एफआईआर दर्ज की गई है।