Delta Variant Updates: WHO said – in the coming weeks, the most dominant variant in the world
Representative Photo

    नई दिल्ली: भारत में कोरोना (Coronavirus Pandemic) का प्रकोप पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। हालांकि कोविड (COVID-19) का कोहराम धीमा जरूर पड़ा है। कोरोना की दूसरी लहर ने देश में कहर बरपाया था। लाखों लोगों की जान इस दौरान गई थी। इन सब के बीच हेल्थ एक्सपर्ट्स ने कोरोना की तीसरी लहर की आशंका जताई है। साथ ही भारत में कोविड के डेल्टा प्लस वेरिएंट (Delta Plus Variants) की पुष्टि होने से चिंता और बढ़ गई है। जिसे लेकर कहा जा रहा है कि ये देश में तांडव मचा सकते हैं। 

    ज्ञात हो कि एक्सपर्ट्स की तरफ से आगाह करते हुए कहा जा रहा है कि चार और ऐसे वेरिएंट हैं जिससे संक्रमण का खतरा अधिक बढ़ गया है। टीओआई की रिपोर्ट की मानें तो देश में कोरोना के चार नए वेरिएंट्स पर करीब से नजर रखी जा रही है। जिसमें B.1.617.3 वैरिएंट, (B.1.617.2), वेरिएंट, B.1.1.318 वेरिएंट, लैम्ब्डा (C.37) और कप्पा वेरिएंट (B.1.617.1) का समावेश है। 

    वहीं इसे लेकर एक्सपर्ट्स की यह भी राय है कि ये चारों वेरिएंट्स डेल्टा या डेल्टा प्लस वेरिएंट की तुलना में इतने अधिक असरदार नहीं हैं। रिपोर्ट के अनुसार एक्सपर्ट की राय है कि ये सभी वेरिएंट्स इंटरनेशनल ट्रेवल के माध्यम से देश में दाखिल हो सकते हैं।

    गौर हो कि देश में कोरोना के पिछले 24 घंटे के भीतर 46,148 नए मामले दर्ज हुए हैं। जबकि 979 लोगों की जान गई है। अच्छी खबर यह है कि 58 हजार से अधिक लोग इलाज के बाद ठीक हुए हैं। देश में कोरोना से रिकवरी दर 96 फीसदी से अधिक है।