Deputy army chief to go on a four-day visit to America

नई दिल्ली. उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल एस के सैनी (Deputy Army Chief Lt Gen SK Saini) अमेरिका की चार दिवसीय यात्रा पर रवाना होंगे। उनकी यह यात्रा शनिवार से शुरू हो रही है और इसका मकसद दोनों देशों के बीच सैन्य सहयोग को और मजबूत करने के रास्ते तलाशना है। इस महीने के अंत में भारत और अमेरिका के बीच होने वाली टू प्लस टू वार्ता से पहले उप सेना प्रमुख (Deputy Chief of Staff) की यह यात्रा हो रही है।

टू प्लस टू वार्ता का आयोजन भारत में 26 और 27 अक्टूबर को होने की संभावना है। दोनों ही देशों के बीच यह तीसरी टू प्लस टू वार्ता है और इसमें हिस्सा लेने के लिए अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ (US Secretary of State Mike Pompeo) और रक्षा सचिव मार्क एस्पर (Secretary of Defense Mark Espar) भारत आएंगे। सेना ने बताया कि लेफ्टिनेंट जनरल सैनी अमेरिकी सेना (military said Lt. Gen. Saini) के पैसिफिक कमांड (प्रशांत कमान) (यूएसएआरपीआरएसी) से मिलेंगे और वहां के शीर्ष सैन्य अधिकारियों के साथ विचारों का आदान-प्रदान करेंगे। सेना ने एक बयान में बताया कि उप सेना प्रमुख हिंद-प्रशांत (Indo-Pacific Command) कमान के मुख्यालय भी जाएंगे।

बयान में कह गया कि उप सेना प्रमुख आईएनडीओपीएसीओएम (हिंद-प्रशांत कमान) भी जाएंगे और वहां सैन्य सहयोग और आगे दोनों देशों के बीच सैन्य संबंधी खरीद, प्रशिक्षण, संयुक्त सैन्य अभ्यास और क्षमताओं के विस्तार पर चर्चा करेंगे। सेना ने कहा कि इस यात्रा से दोनों देशों की सेनाओं के बीच अभियान संबंधी और रणनीतिक स्तर के सहयोग में वृद्धि होगी। भारतीय सशस्त्र बल कोविड-19 संबंधी प्रतिबंधों के बावजूद आने वाले महीनों में अमेरिका के साथ दो सैन्य अभ्यास ‘युद्ध अभ्यास’ और ‘ वज्र प्रहार’ करेगा। इन अभ्यासों का आयोजन क्रमश: अगले साल फरवरी और मार्च में होने जा रहा है।(एजेंसी)