vaccine
Representational Pic

    शिमला. जहाँ एक तरफ मोदी सरकार (Narendra Modi) देश में कोरोना संक्रमण (Corona) और इसके व्यापक टीकाकरण (Vaccination) पर आगामी बुधवार को विचार मंथन करने वाली है। वहीं कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला के दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल (DDU Hospital) में तैनात पैथोलॉजिस्ट डॉक्टर कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद भी अब फिर संक्रमित हो गए हैं। बीते सोमवार को उनकी रैपिड टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं उनकी पत्नी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव गाई है। उधर, डॉक्टर के संक्रमित आने के बाद अब अस्पताल के अन्य कर्मियों में हड़कंप है। बताया जा रहा है कि डॉक्टर कुछ दिन पहले अपने कुछ सहकर्मियों से मिले थे।  

    क्या थी घटना:

    दरअसल डॉक्टर की पत्नी और बेटी को बुखार की शिकायत के चलते बीते सोमवार को अस्पताल लाया गया था। जब उनकी कोरोना जांच करवाई गयी तो डॉक्टर और पत्नी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। फिर उनकी बेटी का RTPCR टेस्ट करवाया गया। वहीं एहतियात के तौर पर माता-पिता का भी RTPCR सैंपल लिया गया है। इन सभी रिपोर्ट अभी आना बाकी है। उधर, तीन-चार दिन पहले सोलन जिले में भी एक महिला डॉक्टर भी कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बावजूद फिर से पॉजिटिव पाई गई थीं।

    इस पर डॉ. रमेश चौहान, वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक ने बताया कि, “फिलहाल कोरोना संक्रमित आए डॉक्टर को होम आइसोलेट करने के निर्देश दिए हैं। निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही उन्हें ड्यूटी ज्वाइन करने के लिए कहा जाएगा।”

    30 जनवरी को पहली तो 1 मार्च को लगी थी वैक्सीन की दूसरी डोज

    गौरतलब है किDDU अस्पताल के इस डॉक्टर को बीते 30 जनवरी को ही पहली डोज लगी थी। वहीं इसके बाद 1 मार्च को इसकी दूसरी डोज लगाई गई। लेकिन गौर करने वाली बात यह भी है कि इसके चौदह दिन बाद भी डॉक्टर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।