डॉ. वीके पॉल बोले- प्रधानमंत्री ने दिया टारगेट, देश में नहीं आनी चाहिए तीसरी लहर

    नई दिल्ली: नीति आयोग में स्वास्थ्य सदस्य डॉ. वीके पॉल ने शुक्रवार को बताया कि, “विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा दुनिया में तीसरी लहर आने की चेतावनी दी है। इस चेतावनी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गंभीरता से लेते हुए हमें टारगेट दिया है कि, देश में कोरोना की तीसरी लहर नहीं आनी चाहिए।” स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने यह बात कही। 

    डॉ पॉल ने कहा, “डब्लूएचओ ने कहा है कि, दुनिया कोरोना की तीसरी लहर से जूझ रही है। कई ऐसे देश हैं, जहां हालात ठीक से बदतर होने लगे हैं। भारत भी के मुहाने में खड़ी है।” उन्होंने कहा, “स्वास्थ्य संगठन के इस चेतावनी को पीएम ने बड़ी गंभीरता से लिया है।”

    जुलाई तक 50 करोड़ को टीका

    नीति आयोग सदस्य ने कहा, “हम जुलाई से पहले 50 करोड़ खुराक देने के एक निर्धारित लक्ष्य की ओर बढ़ रहे हैं। हम इसे हासिल करने की राह पर हैं। सरकार ने कोविशील्ड और कोवैक्सिन की 66 करोड़ खुराक का ऑर्डर दिया है। इसके अतिरिक्त, 22 करोड़ खुराक निजी क्षेत्र को जाएगी।”

    टीकों से मौत की संभावना बेहद कम

    पॉल ने बताया, “टीके की एक खुराक मृत्यु दर को 82% तक कम करने में सक्षम थी। दूसरी लहर के दौरान COVID-19 के कारण होने वाली 95% मौतों को रोकने में वैक्सीन की दो खुराक सफल रहीं।”