The Election Commission ordered repatriation at a booth in West Bengal

    कोलकाता: कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते मामलों के बीच पश्चिम बंगाल चुनाव (West Bengal Assembly Election) के शेष बचे तीन चरणों को लेकर बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने बड़ा निर्णय लिया है। आयोग ने चुनाव प्रचार के समय पर कम करते हुए सुबह 10 बजे से लेकर 7 सात बजे तक कर दिया है। इसी के साथ अब मतदान से पहले 72 घंटे पहले चुनाव प्रचार समाप्त होगा। 

    मतदान से 72 घंटे पहले समाप्त होगा चुनाव

    चुनाव आयोग ने कहा, “प्रचार अभियान के समय को शाम 7 बजे तक सीमित कर दिया गया है। वहीं शाम 7 बजे से सुबह 10 बजे के बीच कोई प्रचार नहीं होगा। इसी के साथ पश्चिम बंगाल में शेष तीन चरणों में प्रचार समाप्त होने की अवधी को बढ़कर 48 घंटे से 72 घंटे कर दिया है। 
     

    रैली में आने वाले लोगों को मास्क प्रदान करें 

    सभी दलों के साथ हुई बैठक के बाद आयोग ने निर्णय लेते हुए कहा, “यह सार्वजनिक सभाओं, रैलियों आदि के आयोजकों की ज़िम्मेदारी होगी कि वे इन सभाओं, रैलियों आदि में शामिल होने वाले प्रत्येक व्यक्ति को उनकी लागत पर मास्क और सैनिटाइज़र प्रदान करें, जिन्हें निर्धारित खर्च की सीमा के भीतर जोड़ा और गिना जाए।”

    उम्मीदवार और नेता रैली में पहने मास्क 

    आयोग ने कहा, “स्टार प्रचारक/राजनीतिक नेता/उम्मीदवार /आकांक्षी नीति निर्धारक अपने व्यक्तिगत उदाहरण का प्रदर्शन करेंगे और मास्क पहनने के अभियान की शुरुआत में सभी समर्थकों को मास्क देंगे, सैनिटाइटर का उपयोग करेंगे, सामाजिक दूरी बनाए रखेंगे और ऐसे भीड़ नियंत्रण उपायों को आवश्यक रूप से लागू करेंगे।
     
    गौरतलब है कि, देश के अन्य भागों के साथ साथ पश्चिम बंगाल में भी कोरोना के मामले बड़ी तेजी से बढ़ रहे हैं। दैनिक मामलों में हो रही लगातार वृद्धि ने चुनाव आयोग पर बचे तीन चरणों में लोगों की भीड़ को रोकने और सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए कोई निर्णय लेने का दवाब बन गया था। मीडिया सहीत सोशल मिडिया में बचे तीन चरणों को एक चरण में कराने की मांग शुरू हो गई थी।