शर्मनाक : कोरोना से लड़ रहे डॉक्टरों को मकान खाली करने का दबाव बना रहे मकान मालिक

नई दिल्ली. कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज भी चल रहा है। लेकिन अब कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे स्वास्थकर्मियों को उनके मकान मालिक घर खाली करने के लिए

नई दिल्ली. कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज भी चल रहा है। लेकिन अब कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे स्वास्थकर्मियों को उनके मकान मालिक घर खाली करने के लिए दबाव डाल रहे है। इस बात की जानकारी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के स्वास्थकर्मियों ने स्वास्थ मंत्री को एक पत्र द्वारा दी है।

कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या काफी तेजी से बढ़ रही है। इन मरीजों का इलाज करने में डॉक्टर्स दिन रात मेहनत कर रहे है। लेकिन उन्ही डॉक्टर्स को उनके घर मालिक घर से बाहर निकालने मे जुटे हुए है। इन मकान मालिकों में कोरोना का डर है। कुछ मकान मालिकों ने कुछ स्वास्थ कर्मियों से जबरदस्ती घर खाली भी करवाए है। जिसके बाद कुछ डॉक्टर्स सड़क पर आ गए है। 

आवाजाही के लिए हो रही दिक्कत 
स्वास्थकर्मियों ने सरकार से मकान मालिकों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। साथ ही उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण अस्पतालों में काम करनेवाले डॉक्टर्स, नर्स और अन्य कर्मचारियों को आवाजाही करने में कई दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। जिससे आवाजाही के लिए कुछ व्यवस्था मुहैया कराई जाए। साथ ही उनकी सुरक्षा के सुनिश्चित की जाए।

मकान मालिकों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश 
कोरोना वायरस से खिलाफ लड़ रहे स्वास्थकर्मियों को मकान खाली करने के लिए दबाव डालने वाले मालिकों के खिलाफ देश के गृह मंत्री अमित शाह ने कार्रवाई करने के आदेश दिल्ली पुलिस को दिए है। 

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने की निंदा 
दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भी इस घटना की निंदा की है। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से कहा कि, ये डॉक्टर हमारी जान बचा रहे हैं, अपनी जान जोखिम में डाल रहे हैं। इनके मकान मालिक ऐसा ना करें। ये ग़लत है। भगवान ना करे, कल अगर मकान मालिकों के परिवारों में किसी को करोना हो गया तो ये डॉक्टर ही काम आएँगे।