Encounter between Maoists and Special Operation Group of Police in Odisha, two policemen injured
File

    भुवनेश्वर: ओडिशा (Odisha) के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) (DGP) अभय ने बताया कि, बौद्ध और कंधमाल जिलों की सीमा से लगे जंगलों में माओवादियों (Maoists) के साथ जारी मुठभेड़ में शनिवार को पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के दो कर्मी घायल हो गए। उन्होंने बताया कि, दोनों कर्मियों की हालत स्थिर है और उन्हें हेलिकॉप्टर (Helicopter) से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भुवनेश्वर में भर्ती कराया गया है। हेलिकॉप्टर में घायल पुलिसकर्मियों के साथ डीजीपी भी थे।

    पुलिस महानिरीक्षक (ऑपरेशन) अमिताभ ठाकुर ने बताया कि बौद्ध-कंधमाल जिले की सीमा से लगे उमा के जंगल में तड़के उस समय मुठभेड़ आरंभ हुई जब सुरक्षा बलों ने विशेष सूचना के आधार पर इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया। डीजीपी ने बताया कि तलाशी अभियान के दौरान भाकपा (माओवादी) के सदस्यों ने सुरक्षा बलों पर गोलियां चलाईं, जिसमें दो एसओजी कमांडो गोली लगने से घायल हो गए।

    उन्होंने कहा कि मुठभेड़ में माओवादियों के घायल होने की भी सूचना मिली है। डीजीपी वामपंथी अतिवादी विरोधी गतिविधियों की समीक्षा करने के लिए मलकानगिरि और कोरापुट जिलों के दौरे पर थे। वह कोरापुट के सुनबेड़ा में अपना कार्यक्रम स्थगित करने के बाद बौद्ध के पडेलपाड़ा पहुंचे। अभय ने कहा कि वह हेलिकॉप्टर में एक डॉक्टर के साथ घायल पुलिसकर्मियों को भुवनेश्वर ले गए।

    डीजीपी ने अपने कुछ जवानों को मुठभेड़ स्थल पर भेजने के लिए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और खराब मौसम के बावजूद हेलिकॉप्टर से उड़ान भरने वाले सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के पायलट का शुक्रिया अदा किया।