फडणवीस: हिम्मत हो तो शिवसेना फिर चुनाव करवा ले, जनता किसके साथ है पता चल जायेगा

मुंबई, महाराष्ट्र के चुनावी समीकरण दिनोदिन बदलते जाते हैं। यहाँ कभी कोई आरोप-आक्षेप की राजनीति करता है तो कभी कोई मित्रता पर सेंध की बात करता है। इसी राजनीति के एक नया समीकरण आया है वह पूर्व

मुंबई, महाराष्ट्र के चुनावी समीकरण दिनोदिन बदलते जाते हैं। यहाँ कभी कोई आरोप-आक्षेप की राजनीति करता है तो कभी कोई मित्रता पर सेंध की बात करता है। इसी राजनीति के एक नया समीकरण आया है वह पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का है। उन्होंने महाराष्ट्र के वर्तमान मुख्यमंत्री उध्हव ठाकरे को कहा है कि हिम्मत है तो फिर चुनाव करवा लीजिये। जनता किसके साथ है पता चल जायेगा। 

विदित हो कि जलगांव जिले के मुक्तिनगर में उद्धव ठाकरे ने कहा था कि महाविकास अघाड़ी पूरी तरह से मजबूत सरकार है और देवेंद्र फडणवीस और बीजेपी में अगर हिम्मत है तो इसे गिराने की कोशिश करे। इस पर विधान परिषद के विपक्ष के नेता, देवेंद्र फड़नवीस ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को जवाब देते हुए कहा कि हमें सरकार को उखाड़ फेंकने की जरूरत नहीं है वह ऐसे ही गिर जायेगी। 

दरअसल देवेंद्र फडणवीस कल , नवी मुंबई में बीजेपी के राज्य सम्मेलन में भाषण दे रहे थे। बातों बातों में उन्होंने कहा कि "उध्हव हमसे कहते है कि हिम्मत है तो सरकार गिराके दिखाओ, अरे आपकी सरकार को गिराने की जरुरत नहीं वह ऐसे ही गिर जायेगी। आप में हिम्मत है तो फिर चुनाव करके दिखाओ, पता चल जायेगा जनता किसके साथ है।" इसके साथ ही उन्होंने शिवसेना पर विशवासघात का आरोप लगे और कहा की हम इस धोखेबाजी पर दुखी होकर नहीं बैठने वाले। हम वीर शिवाजी के सिपाही हैं। हम अगर हमारे 22 किले दे सकते हैं तो बदले में 44 किले वापस भी ले सकते हैं।"