farmers-protest

  • आगामी 14 दिसंबर को किसानों की 'भूख हड़ताल'
  • सरकार और किसानों के बीच तनातनी जारी

दिल्ली. मोदी सरकार (Narendra Modi)  द्वारा लाये गए विवादस्पद नए ‘कृषि कानूनों’ (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसान (Farmers Protest) पिछले 17 दिनों से दिल्ली बॉर्डर पर डटे हुए हैं।  जहाँ मोदी सरकार की इच्छा है कि किसान नेताओं से बातचीत कर गतिरोध को अब जैसे तैसे खत्म किया जाए।  वहीं किसान नेता भी तीनों ‘कृषि कानून’ वापस लेने की अपने मांग पर अड़े हुए हैं। अब तक हुई छह दौर की बातचीत भी पूरी तरह से बेनतीजा रही हैं। 

किसान करेंगे ‘भूख हड़ताल’:

बीते शनिवार को शीर्ष किसान नेताओं ने अपने तेवर और सख्त करते हुए आने वाली 14 दिसंबर को ‘भूख हड़ताल’ पर जाने का ऐलान कर भी कर दिया है।  लेकिन इससे पहले आज यानी रविवार को राजस्थान बॉर्डर से हजारों किसान ‘ट्रैक्टर मार्च’ निकालेंगे और दिल्ली-जयपुर हाइवे को पूरी तरह से बंद करेंगे। 

आज करेंगे  जयपुर-दिल्ली एवं दिल्ली-आगरा एक्सप्रेसवे ठप:

वहीं बीते शनिवार को किसानों की जयपुर-दिल्ली एवं दिल्ली-आगरा एक्सप्रेसवे को अवरुद्ध करने की उनकी घोषणा के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने अब शहर की सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं जिनमें बहुस्तरीय अवरोधक लगाना और पुलिस बल को तैनात करना शामिल है। प्रदर्शन स्थलों पर यात्रियों को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े इस लिहाज से भी कुछ उपाय किए गए हैं। उन्होंने बताया कि दिल्ली यातायात पुलिस ने महत्वपूर्ण सीमाओं पर अपने कर्मियों को तैनात किया है ताकि आने-जाने वाले लोगों को कोई परेशान नहीं हो। इसके अतिरिक्त ट्विटर के जरिए लोगों को खुले एवं बंद मार्गों की भी जानकारी दी जा रही है। 

किसान आज करेंगे  ट्रैक्टरों से ‘दिल्ली चलो’ मार्च शुरू:

गौरतलब है कि किसान नेताओं ने बीते शनिवार को अपनी मांगों पर कायम रहते हुए कहा कि वे सरकार से तभी वार्ता को तैयार हैं जब पहले तीन नये कृषि कानूनों को निरस्त करने पर बातचीत होगी। किसानों ने घोषणा की कि उनकी यूनियनों के प्रतिनिधि आनेवाली 14 दिसंबर को देशव्यापी प्रदर्शन के दौरान ‘भूख हड़ताल’ पर बैठेंगे। सिंघू बॉर्डर पर संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए किसान नेता कंवलप्रीत सिंह पन्नू ने कहा कि आज यानी रविवार को हजारों किसान राजस्थान के शाहजहांपुर से जयपुर-दिल्ली राजमार्ग के रास्ते सुबह 11 बजे अपने ट्रैक्टरों से ‘दिल्ली चलो’ मार्च शुरू करेंगे।