किसान नेता राकेश टिकैत (Photo Credits-ANI Twitter)
किसान नेता राकेश टिकैत (Photo Credits-ANI Twitter)

    नई दिल्ली: कृषि कानूनों (Farmers Protest) को लेकर घमासान खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार इस मसले पर सियासी बयानबाजी जारी है। केंद्र (Modi Govt) और किसान संगठनों के बीच कई दौर की वार्ता भी हुई है। लेकिन इस मामले का हल नहीं निकल सका है। इसी बीच एक बार फिर केंद्र ने किसानों को बातचीत का ऑफर दिया हुआ है। इसे लेकर अब किसान नेता राकेश टिकैत ने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हम बातचीत के लिए तैयार हैं। 

    किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि मैंने ये नहीं कहा था कि कृषि क़ानूनों को लेकर UN (संयुक्त राष्ट्र) जाएंगे। हमने कहा था कि 26 जनवरी के घटना की निष्पक्ष जांच हो जाए। अगर यहां की एजेंसी जांच नहीं कर रही है तो क्या हम UN में जाएं?

    राकेश टिकैत की प्रतिक्रिया-

    उन्होंने कहा कि भारत सरकार बातचीत करना चाहती है तो हम तैयार हैं। 22 तारीख से हमारा दिल्ली जाने का कार्यक्रम रहेगा। 22 जुलाई से संसद सत्र शुरू होगा। 22 जुलाई से हमारे 200 लोग संसद के पास धरना देने जाएंगे। इससे पहले केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने गुरुवार को किसान संगठनों से आंदोलन खत्म करने और वार्ता शुरू करने की अपील की।