MODI

नयी दिल्ली.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने शनिवार (Saturday) को कहा कि भारत ने 2020 में उतार-चढ़ाव देखे, पर अब स्थितियां उम्मीद से अधिक तेजी से बेहतर हुई हैं। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री उद्योग मंडल फिक्की (FICCI) के वार्षिक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा आज अर्थव्यवस्था (Economics) के संकेतक हौसला बढ़ाने वाले हैं। संकट के समय देश ने जो सीखा है, उसने भविष्य के संकल्पों को और दृढ़ किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘चाहे एफडीआई (FDI) हो या एफपीआई (FPI), विदेशी निवेशकों ने भारत में रिकॉर्ड निवेश किया है।” मोदी ने कहा कि भारत ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान लोगों की प्राण रक्षा को प्राथमिकता दी। उस दिशा में नीतियां बनाईं, फैसले किए।

आज और क्या-क्या कहा प्रधानमंत्री मोदी ने:

  • PM मोदी ने कहा कि साल 2020 ने सभी को मात दे दिया। लेकिन सबसे अच्छी बात ये रही कि जितनी तेजी से हालात बिगड़े उतनी ही तेजी से वापस सुधर भी रहे हैं। 
  • उन्होंने कहा कि, “कोरोना महामारी के समय भारत ने अपने नागरिकों के जीवन को सर्वोच्च प्राथमिकता दी। आज कोरोना काल के दौरान भारत ने जो फैसले लिए उससे अब पूरी दुनिया चकित है।”
  • उनका कहना था कि, नए कृषि सुधारों से किसानों को बहुत फायदा होने वाला है। अब कृषि से जुड़े सारी चीजों से दीवारें हम हटा रहे हैं। अब इन नए कृषि कानून से किसानों को नए बाजार मिलेंगे। नए कृषि कानूनों से किसानों की आमदनी भी बढ़ेगी। अब कृषि क्षेत्र में निवेश से किसानों को बहुत फायदाहोने वाला। उन्हें नए विकल्प मिलेंगे और नए बाजार भी।”
  • PM मोदी का कहना था कि, “पिछले 6 सालों में दुनिया ने भारत में अपना बहुत विश्वास दिखाया है। ये विश्वास पिछले 6 महीनों में और भी मजबूत हुआ है। फिर चाहे वो FDI हो या फिर FPI, हमारे विदेशी निवेशकों ने भारत में रिकॉर्ड निवेश किया और और वे आगे भी निवेश कर रहे हैं।” 
  • PM मोदी ने कृषि क्षेत्र में निजी निवेश पर जोर देते हुए कहा कि, “खेती में जितना निजी क्षेत्र के द्वारा निवेश किया जाना चाहिए था उतना निवेश नहीं हो पाया। निजी क्षेत्र ने कृषि क्षेत्र को अच्छे से एक्सप्लोर ही नहीं किया। लेकिन आज कृषि क्षेत्र में निजी कंपनियां अपना अच्छा कार्य कर रही हैं, लेकिन उन्हें भविष्य में और भी अच्छा करने की जरूरत होगी।” 
  • PM मोदी ने यह भी कहा कि अब, “भारत की कृषि मंडियों का आधुनिकीकरण हो रहा है। फसलों को मंडी के साथ अब बाजार में बेचने का विकल्प भी किसानों को मिल रहा है। इस समय देश में चौतरफा रिफॉर्म्स किए गए हैं। आज भारत में कॉरपोरेट टैक्स दुनिया में सबसे कम है। इंस्पेक्टर राज और टैक्स के जंजाल को पीछे छोड़कर भारत आज अपने उद्यमियों पर भरोसा कर रहा है और आगे भी बढ़ रहा है। यह बात हमें समझना होगा कि जब एक सेक्टर विकसित करता है तो उसका विकास दूसरे सेक्टरों पर भी अनुकूल रूप से पड़ता है। 
  • अपने भाषण के अंत में PM मोदी ने बताया कि, भारत में अब जहाँ मंडियों का आधुनिकीकरण तो हो ही रहा है, इसके साथ ही अब किसानों को डिजिटल प्लेटफार्म पर फसल बेचने और खरीदने का भी विकल्प दिया जा रहा है। इससे किसानों को अब उनके लिए नए विकल्पों के साथ नए बाजार भी मिलेंगे।