बाढ़ का कहर (Photo Credits-ANI Twitter)
बाढ़ का कहर (Photo Credits-ANI Twitter)

    नई दिल्ली: भारत में कोरोना (Coronavirus Pandemic) का प्रकोप पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है।  हालांकि इसकी रफ्तार धीमी जरूर पड़ी है। इन सब के बीच उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh), बिहार (Bihar) और बंगाल (West Bengal) में मानसून की बारिश आफत बनकर सामने आयी है। यूपी के लखीमपुर खीरी में हालात खराब है क्योंकि शारदा नदी में उफान आया है। बाढ़ (Flood) के कारण लोग खौफ में है और वे पलायन कर रहे हैं ताकि उन्हें परेशानी न उठानी पड़े। 

    बता दें कि उत्तर प्रदेश में शारदा के पानी ने करीब 100 गांवों में अपनी चपेट में लिया है। आलम यह है कि लोग अपने घरों तक पहुंचने के लिए नाव का इस्तेमाल कर रहे हैं। कई जगहों पर 4 तो कुछ जगहों पर 10 फीट तक पानी भर गया है। इसके साथ ही यूपी के बाराबंकी में भी नेपाल का पानी चिंता का विषय बना हुआ है। बाराबंकी में सरयू नदी का पानी बढ़ने के कारण दर्जनों गांव पर कटान का खतरा खड़ा हो गया है। 

    वहीं बंगाल के पश्चिमी मिदनापुर में भी बाढ़ ने कहर बरपाया हुआ है। यहां कई गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। कई जगहों पर नांव चल रही है। शिलाबाती और झूमी नदी ने यहां कहर ढाया है। जबकि पटना में लगातार हो रही बारिश के कारण संकट खड़ा हो गया है। पटना में कई गांवो का संपर्क टूट गया है। गंगा नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण जिला प्रशासन ने यहां पीपा पुल को बंद किया है।