rajesh-bhushan

    नई दिल्ली: कोरोना को लेकर मंगलवार को आयोजित प्रेस वार्ता में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजीव भूषण ने कहा, “भारत ने 21 जून 2021 को एक ही दिन में प्रशासित 88.09 लाख खुराक का ऐतिहासिक मील का पत्थर हासिल किया। जिसमें से अकेले मध्य प्रदेश में 17 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की खुराक दी गई।” स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार अब तक देश में 29 करोड़ लोगों को टीका लगाया जा चूका है। 

    राजीव भूषण ने कहा, “मध्य प्रदेश ने सर्वाधिक 17 लाख से अधिक खुराकें दीं। कर्नाटक में 11 लाख से अधिक, यूपी में 7 लाख से अधिक, बिहार में 5.75 लाख, हरियाणा और गुजरात में 5.15 लाख, राजस्थान में 4.60 लाख, तमिलनाडु में 3.97 लाख, महाराष्ट्र में 3.85 लाख और असम में 3.68 लाख – शीर्ष 10 राज्य हैं।”

    ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा ध्यान 

    नीति आयोग में सदस्य-स्वास्थ्य  डॉ. वीके पॉल ने कहा, “टीकों के ग्रामीण कवरेज पर उल्लेखनीय रूप से बल दिया गया है। कल दी गई टीके की कुल खुराक का 63.7% गांवों में और 36% शहरी क्षेत्रों में था।” उन्होंने कहा, ” कल टीका प्राप्त करने वालों में 46% महिलाएं थीं और 53% पुरुष थे। हमें इस असंतुलन पर काम करना है, महिलाओं में जागरूकता पैदा करनी है और उन्हें आगे लाना है।”

    पॉल ने आगे कहा, “पिछले कुछ हफ्तों में दी जाने वाली आधी से अधिक खुराक ग्रामीण क्षेत्रों में लगाई गई थी, जिससे यह स्पष्ट होता है कि ग्रामीण इलाकों में पहुंच संभव है। हम पूरी तरह से आशान्वित और आश्वस्त हैं कि ग्रामीण क्षेत्रों को कवर करना हमारे लिए पूरी तरह से संभव है।”

    80 देशों में डेल्टा पाया गया 

    स्वास्थ्य सचिव ने कहा, “डेल्टा संस्करण भारत सहित 80 देशों में पाया जाता है। इसे ‘चिंता का रूप’ माना जाता है। डेल्टा प्लस 9 देशों में पाया जाता है – यूएस, यूके, पुर्तगाल, स्विटजरलैंड, जापान, पोलैंड, नेपाल, चीन और रूस; भारत में मिले 22 मामले वैरिएंट ‘ब्याज के प्रकार’ की श्रेणी में है।” उन्होंने कहा, “भारत में डेल्टा प्लस वेरिएंट के 22 में से 16 मामले रत्नागिरी और जलगांव (महाराष्ट्र) में और कुछ मामले केरल और मध्य प्रदेश में पाए गए हैं। इसी को देखते हुए मंत्रालय ने तीनों राज्यों को पत्र लिखा है।”

    CoWIN को लेकर किये सवाल पर भूषण ने कहा, “कई बार आलोचना के बावजूद, CoWIN को ज्यादातर प्रशंसा मिली है। इसने खुद को एक बहुत ही मजबूत, सर्व-समावेशी, सरल आईटी-आधारित प्लेटफॉर्म के रूप में स्थापित किया है। इसलिए, बड़ी संख्या में देश प्रौद्योगिकी को लेने और उसका उपयोग करने में रुचि रखते हैं।”

    जल्द ही होगा वैश्विक वेबिनार

    भूषण ने कहा, “राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और विदेश मंत्रालय मिलकर एक वैश्विक वेबिनार की योजना बना रहे हैं जिसमें ऐसे संभावित इच्छुक देशों को आमंत्रित किया जाएगा और हम उनके साथ प्रौद्योगिकी और समाधान साझा करने के इच्छुक होंगे।”

    दोनों वैक्सीन डेल्टा वैरियंट पर प्रभावी 

    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, “मोटे तौर पर, दोनों भारतीय टीके जो हम COVID टीकाकरण कार्यक्रम में उपयोग कर रहे हैं- Covishield & Covaxin- डेल्टा संस्करण के खिलाफ प्रभावी हैं। लेकिन वे किस हद तक और किस अनुपात में एंटीबॉडी टाइटर्स का उत्पादन करते हैं, जिसे हम जल्द ही आपके साथ साझा करेंगे।”