Vice President Naidu

नयी दिल्ली. उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शनिवार को वैश्विक समुदाय का आह्वान किया कि आतंकवाद को प्रायोजित करने वाले देशों को मिलकर अलग-थलग करें और उनके खिलाफ प्रतिबंध लगाये जाएं। आतंकवाद की समस्या पर चिंता जताते हुए नायडू ने संयुक्त राष्ट्र से अपील की कि ‘अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद पर व्यापक समझौते’ के भारत के काफी समय से लंबित प्रस्ताव को अपनाया जाए।

उप राष्ट्रपति ने लाल बहादुर शास्त्री प्रबंधन संस्थान द्वारा आयोजित एक डिजिटल समारोह में यह बात कही। जिसमें इन्फोसिस फाउंडेशन की अध्यक्ष सुधा मूर्ति को उनके परोपकार कार्यों के लिए लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय उत्कृष्टता पुरस्कार-2020 प्रदान किया गया।

नायडू ने कहा कि कोई देश आतंकवाद से सुरक्षित नहीं है और अब ठोस कार्रवाई का समय है। उन्होंने कहा, “संयुक्त राष्ट्र में सुधार की और अधिक समावेशी तथा न्यायसंगत वैश्विक व्यवस्था बनाने की जरूरत है।”

पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धांजलि देते हुए नायडू ने कहा कि वह भारत के महान सपूत थे जो एक साधारण परिवार से प्रधानमंत्री के अहम पद तक पहुंचे और फिर भी सहजता और मानवीय दृष्टिकोण बनाये रखा। कोरोना वायरस महामारी का जिक्र करते हुए नायडू ने अनेक क्षेत्रों में आगे रहकर काम कर रहे योद्धाओं की सराहना की। (एजेंसी)