प्याज की कीमतें थामने को एक लाख टन का बफर स्टॉक जारी कर रही सरकार : कृषि मंत्री

इंदौर (मध्यप्रदेश). केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Union Agriculture Minister Narendra Singh Tomar) ने बुधवार रात कहा कि प्याज की बढ़ती महंगाई से ग्राहकों को निजात दिलाने के लिए एक लाख टन का बफर स्टॉक जारी किए जाने समेत अलग-अलग कदम उठाए जा रहे हैं। तोमर ने इंदौर शहर से करीब 20 किलोमीटर दूर धरमपुरी कस्बे में एक चुनावी सभा में शामिल होने के बाद संवाददाताओं से कहा, “प्याज के दाम बढ़ने का मामला सरकार के संज्ञान में है।

राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन महासंघ (नाफेड) के पास मौजूद प्याज का एक लाख टन का बफर स्टॉक जारी किया जा रहा है।” उन्होंने कहा, “हमने समय से पहले ही देश से प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी है, जबकि इसके आयात के रास्ते खोल दिए गए हैं।” तोमर ने कहा कि कांग्रेस “दोमुंही राजनीति” करते हुए केंद्र सरकार के नये कृषि कानूनों का विरोध कर रही है। उन्होंने कहा, “कांग्रेस ने वर्ष 2019 के पिछले लोकसभा चुनावों के दौरान अपने घोषणापत्र में कहा था कि वह देश में व्यापार को बंधनों से मुक्त करेगी, अंतरराज्यीय कारोबार को बढ़ावा देगी, कृषि उपज विपणन समितियों (एपीएमसी) को समाप्त करेगी, संविदा खेती को प्रोत्साहित करेगी और आवश्यक वस्तु अधिनियम को खत्म करेगी।”  कृषि मंत्री ने कहा, “कांग्रेस ये काम नहीं कर सकी क्योंकि वह दलालों और बिचौलियों के दबाव में रहती है। लेकिन भाजपा नीत केंद्र सरकार ने कृषि सुधारों के लिए नये कानून बनाकर दिखा दिए। इसलिये अब कांग्रेस के पेट में दर्द हो रहा है।” 

उन्होंने एक सवाल पर कहा, “जब पंजाब सरकार के नये कृषि कानून हमारे पास आएंगे, तो हम उनका बारीकी से अध्ययन कर किसानों के हित में जरूरी कदम उठाएंगे।” तोमर अपने गृहराज्य मध्यप्रदेश के सांवेर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार और प्रदेश के पूर्व जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करने धरमपुरी पहुंचे थे। सूबे में सांवेर समेत 28 विधानसभा सीटों पर तीन नवंबर को उप चुनाव होने हैं। चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस नेताओं द्वारा भाजपा नेताओं के लिए “आइटम” और “गद्दार” जैसे शब्दों के इस्तेमाल पर कृषि मंत्री ने पलटवार करते हए कहा, “खाली दिमाग शैतान का घर होता है। कांग्रेसियों का दिमाग खाली है, तो वे इस प्रकार की शैतानियत की चर्चा करते हैं। इससे जनता में कांग्रेस की छवि खराब हो रही है।” 

उन्होंने कहा, “पिछले लोकसभा चुनावों के बाद कांग्रेस की इतनी हैसियत भी नहीं बची थी कि वह संसद में विपक्ष का नेता बना सके। अब मध्यप्रदेश में भी कांग्रेस का जहाज डूब रहा है। कांग्रेस के कई नेता यह पार्टी छोड़कर भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं।” वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा पर झूठ बोलने का आरोप लगाए जाने पर तोमर ने कहा, “मैं राहुल गांधी से पूछना चाहता हूं कि उनके पूरे खानदान ने अपने इतिहास में एकाध सच बोला हो, तो बताएं।” (एजेंसी)