Government of India started action, Railways canceled projects with Chinese companies
File Pic

नई दिल्ली: लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में जवानों के शहीद  होने पर भारत सरकार ने चीन के खिलाफ अपना सख्त एक्शन शुरू कर दिया है. गुरुवार को भारतीय रेलवे ने चीनी कंपनियों को दिए प्रोजेक्ट को रद्द करना शुरू कर दिया है. मिली जानकरी के अनुसार रेलवे ने ‘बीजिंग नेशनल रेलवे रिसर्च एंड डिज़ाइन इंस्टीट्यूट ऑफ सिग्नल एंड कम्युनिकेशन ग्रुप’ को दिए प्रोजेक्ट को रद्द करने का निर्णय ले लिया है. बायकॉट चाइना मुहिम के अंतर्गत रेलवे ने यह निर्णय लिया है. 

बता दें कि गलवान घाटी में 15/16 जून को हुई झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे. वहीं चीन के 43 जवान इस हिंसक झड़प में हताहत हुए थे, जिसमे मरने और घायल दोनों शामिल है. हालांकि चीनी सरकार ने मरने वाले सैनिकों का आकड़ा जाहिर नहीं किया है. 

जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा: प्रधानमंत्री मोदी  
बुधवार को देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा था कि, ‘मैं राष्ट्र को आश्वस्त करना चाहूंगा कि हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। हमारे लिए, देश की एकता और संप्रभुता सबसे महत्वपूर्ण है … भारत शांति चाहता है लेकिन अगर उकसाया गया है तो वह जवाब देने में सक्षम है.’ उन्होंने कहा, ‘भारत शांति चाहता है लेकिन जब उकसाया जाता है, तो भारत एक मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है, फिर चाहे किसी भी तरह की स्थिति हो.’

देश भर में चीन और उसके सामानों का विरोध
गलवान में भारतीय सैनिकों के शहीद कोने के बाद पुरे देश में चीन के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है. हर बड़े शहरों में लोग सड़क पर उतर कर चीन के खिलाफ अपना गुस्सा निकाल रहे है. इसी के साथ चीनी सामानों के बहिष्कार करने का आवाहन कर रहे है, इसी के साथ सड़क पर चीन में निर्मित सामानों को जला रहे है.