Haryana BKU chief Chaduni and BJP

    अंबाला. हरियाणा भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) (BKU) के प्रमुख गुरनाम सिंह चढूनी (Gurnam Singh Chaduni) ने रविवार को कहा कि “किसान विरोधी” भाजपा को पश्चिम बंगाल (West Bengal) की तरह उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में भी हराया जाएगा, जहां अगले वर्ष विधानसभा चुनाव (Assembly Election) हैं। चढूनी ने दावा किया कि पिछले छह महीने में लोगों में भाजपा के प्रति ‘नफरत’ बढ़ी है क्योंकि तीन कृषि कानूनों को लेकर किसानों की चिंता का केंद्र में सत्तारूढ़ पार्टी की सरकार ने समाधान नहीं किया।

    अंबाला से दिल्ली के सिंघू बार्डर तक किसानों के मार्च के अगुवाई करने वाले बीकेयू नेता यहां संवाददाताओं से बात कर रहे थे। दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले कारों, वाहनों एवं दो पहिया वाहनों से बड़ी संख्या में किसान अंबाला शहर के पास शंभू बार्डर के पास पहुंचे। चढूनी ने कहा, “जिस तरह उन्हें पश्चिम बंगाल में सत्ता में आने से रोका गया, उसी तरह ‘मिशन यूपी’ होगा और भाजपा की हार सुनिश्चित की जाएगी।”

    पिछले महीने संपन्न पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस ने 292 में से 213 सीटों पर जीत हासिल करके राज्य में अपनी सत्ता बरकरार रखी थी। यद्पि भाजपा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को सत्ता से बेदखल नहीं कर पायी लेकिन उसने अपनी सीटों की संख्या बढ़ाकर 77 कर ली। साल 2016 के विधानसभा चुनाव में उसे महज तीन सीटों पर जीत मिली थी।

    चढूनी ने दावा किया कि पिछले छह माह में “आम लोगों में भाजपा के प्रति नफरत और बढ़ी है। उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों को निरस्त करने की किसानों की मांग का समाधान नहीं करने से पार्टी का असंवेदनशील चेहरा सामने आ गया है।”

    उन्होंने कहा कि किसानों ने इस साल के प्रारंभ में पश्चिम बंगाल एवं जिन अन्य राज्यों में चुनाव हुए, वहां महापंचायत की थी और अब ‘मिशन यूपी’ होने जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि रविवार के मार्च में अंबाला से 2500 से 3000 वाहनों ने हिस्सा लिया। किसान नेता ने कहा, ‘‘ यह आंदोलन मजबूत हो रहा है। सरकार यदि सोचती है कि यह आंदोलन कमजोर पड़ गया है तो वह गलतफहमी में है।” (एजेंसी)