anil-vij

अंबाला. हाल में कोरोना (Corona) वायरस से संक्रमित हुए हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज (Anil Vij) को अंबाला (Ambala) के सिविल अस्पताल से रोहतक के पीजीआईएमएस अस्पताल में स्थानांतरित किया गया है। डॉक्टरों ने रविवार को बताया कि विज ने बैचेनी की शिकायत की थी जिसके बाद उन्हें शनिवार रात को स्थानांतरित किया गया।

अंबाला के सिविल सर्जन डॉ कुलदीप सिंह ने बताया कि रोहतक अस्पताल में डॉक्टरों की एक टीम विज की हालत की निगरानी कर रही है। गौरतलब है कि विज ने स्वेच्छा से आगे आकर कोविड-19 के संभावित टीके कोवैक्सीन के परीक्षण के तहत पिछले महीने एक टीका लगावाया था। वह पांच दिसंबर को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। भारत बायोटेक कोविड-19 के संभावित टीके कोवैक्सीन पर काम कर रही है।

इस टीके के तीसरे चरण के परीक्षण के लिए भाजपा के 67 वर्षीय नेता ने स्वेच्छा से आगे आकर खुराक लेने की पेशकश की थी। उन्हें परीक्षण के लिए दो टीके लगाए जाने थे, जिनमें से एक उन्हें अंबाला छावनी के सिविल अस्पताल में 20 नवंबर को दिया गया था। भारत बायोटेक ने कहा था कि टीके के क्लिनिकल परीक्षण में दो खुराकें 28 दिन के अंतराल पर दी जाती हैं और टीके का प्रभाव दूसरी खुराक देने के दो हफ्ते बाद पता लगाया जाता है। इस मामले में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को भी दखल देना पड़ा था और उसने कहा था कि कोवैक्सीन की दूसरी खुराक देने के कुछ दिन बीतने के बाद इंसान के शरीर में संक्रमण के खिलाफ एंटीबॉडी बनती हैं, जबकि विज को सिर्फ एक ही खुराक दी गई थी।