हिंगणघाट मामला: पीड़िता महिला लेक्चरर की आज सुबह मृत्यु

नागपुर, आज सुबह प्राप्त हुए समाचारों के अनुसार हिंगनघाट निवासी पीड़िता महिला लेक्चरर, जिसके शरीर पर पेट्रोल छिड़ककर उसे जिंदा जलाने की कोशिश की गयी थी, उसकी आज सुबह मृत्यु हो गयी है। विदित हो कि

नागपुर, आज सुबह प्राप्त हुए समाचारों के अनुसार हिंगनघाट निवासी पीड़िता महिला लेक्चरर, जिसके शरीर पर पेट्रोल छिड़ककर उसे जिंदा जलाने की कोशिश की गयी थी, उसकी आज सुबह मृत्यु हो गयी है। विदित हो कि पिछले कई दिनों से उसका उपचार नागपुर के ऑरेंज सिटी हॉस्पिटल में चल रहा था। बीती रात रविवार को ही पीड़िता को एयर एम्बुलेंस के जरिये मुंबई भेजे जाने पर विचार विमर्श हो रहा था।

वहीं नागपुर के ऑरेंज सिटी हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के निदेशक, डॉ अनूप मरार ने बताया कि आज सुबह 6.55 बजे पीड़िता महिला लेक्चरर की मृत्यु हो गयी। मृत्यु का कारण सेप्टिकमिक शॉक था। उन्होंने कहा कि " आज सुबह 6.55 बजे मरीज को मृत घोषित कर दिया गया है।प्रथम दृष्टया रिपोर्ट के अनुसार मौत का संभावित कारण सेप्टिकमिक शॉक था। हमने कल ही पीड़िता के अन्न नलिका की शल्यक्रिया की थी। कल से ही उसे पहली बार पोषण नलिका से द्रवरूप में आहार दिया गया था"। डॉक्टर मरार ने बताया कि कल पीड़िता को विशेष प्लेन से मुंबई भेजने पर भी विमर्श शुरू था लेकिन उसकी अवस्था को देख कर हमने फिलहाल इस योजना को टाल दिया था। उन्होंने यह भी बताया कि पीड़िता के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए पुलिस अधिकारियों को सौंप दिया गया है।

विदित हो कि गत 3 फरवरी को हिंगनघाट तहसील के दारोडा निवासी महिला लेक्चरर को उसके कालेज जाते समय विक्की उर्फ विकेश नगराले ने उसके शरीर पर पेट्रोल छिड़ककर उसे जिंदा जलाने की कोशिश की थी।गंभीर रूप से झुलसी पीड़िता का नागपुर के आरेंज सिटी हॉस्पिटल में उपचार चल रहा था।गत शुक्रवार से उसकी हालत बिगड़ी हुई थी और उसे जीवन रक्षा प्रणाली पर रखा गया था। हिंगणघाट के पुलिस निरीक्षक सत्यवीर बंडीवार ने कहा, ‘‘ डॉक्टर ने आज सुबह छह बजकर 55 मिनट पर उसे मृत घोषित कर दिया।” उन्होंने बताया कि महिला की मौत के बाद किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए अस्पताल के आसपास सुरक्षा एहतियातन कड़ी कर दी गई है।

कई स्थानीय लोगों, महिलाओं और कॉलेज छात्रों ने आरोपी को मौत की सजा देने की मांग करते हुए वर्धा में गत गुरुवार को मार्च निकाला था। राज्य सरकार ने मामले में जाने माने वकील उज्ज्वल निकम को विशेष सरकारी वकील नियुक्त किया है। महिला के रिश्तेदारों के अनुसार नगराले पिछले कुछ समय से अंकिता को परेशान कर रहा था। घटना के कुछ घंटे बाद ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने पहले बताया था कि नगराले पीड़िता का दो साल पहले तक दोस्त था। उसके अनुचित व्यवहार के चलते अंकिता ने उससे संबंध खत्म कर लिया था, जिसके बाद वह उसका पीछा करने लगा था।