हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर के आरोपियों का एनकाउंटर; पुलिस की कार्रवाई पर उठ रहे सवाल, FIR की मांग

नई दिल्ली. हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर के चारों आरोपियों का आज तड़के सुबह हैदराबाद पुलिस ने एनकांटर कर दिया है। एनकाउंटर के बाद लोगों में ख़ुशी का माहौल है। वही पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठने लगे

नई दिल्ली. हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर के चारों आरोपियों का आज तड़के सुबह हैदराबाद पुलिस ने एनकांटर कर दिया है। एनकाउंटर के बाद लोगों में ख़ुशी का माहौल है। वही पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठने लगे है।

सुप्रीम कोर्ट की वकील वृन्दा ग्रोवर ने कहा है कि तेलंगाना पुलिस पर मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए। पुरे मामले की स्वतंत्र न्यायिक जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी भी घटना में पुलिस एनकाउंटर करना गलत है। 

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि किसी भी मामले में एनकाउंटर करना ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि पुलिस दावा कर रही है कि आरोपी पुलिस की बंदूक छीनकर भागने के फिराक में थे. ऐसे में शायद उनका फैसला सही रहा होगा. हमारी मांग है कि इस तरह के मामले में आरोपियों को फांसी की सजा दी जाए लेकिन कानूनी प्रक्रिया के तहत उन्हें सजा मिले.

झारखंड के रांची में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे पी चिदंबरम से जब हैदराबाद में गैंगरेप आरोपियों का एनकाउंटर करने पर सवाल किए गए तो उन्होंने कहा, ‘’मुझे इसकी जानकारी सिर्फ उतनी ही है जितनी आपको है. मैं नहीं जनता तथ्य क्या हैं, लेकिन जो भी हैदराबाद में हुआ उसकी जांच होनी चाहिए. इसके लिए जिम्मेदार व्यक्तियों की जांच होनी चाहिए.’’

पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद मेनका गांधी ने हैदराबाद एनकाउंटर पर सवाल उठाया है. मेनका गांधी ने कहा कि हैदराबाद में जो हुआ वह सही नहीं है. एनकाउंटर इसका सॉल्यूशन नहीं है. आरोपियों को एक न्यायिक प्रक्रिया के तहत सजा मिलनी चाहिए. ये आरोपी तो थाने या जेल में होंगे, कहां भाग कर जा रहे थे. क्या यूपी के नेता चाहते हैं कि उन्नाव के आरोपियों का भी एनकाउंटर हो.मेनका गांधी ने कहा, ‘’अगर कल पैसे के किसी मामले में ठगी हो रही होगी तो गोली मार दो? कोई बीवी को मारता है तो उसे भी मार दोगो क्या. आप कहां तक लक्ष्मण रेखा तोड़ोगे.’’ आरोपियों की तरफ से पुलिस पर पत्थरबाजी करने की पुलिस की थ्योरी पर मेनका गांधी ने कहा कि चार लोग जो निहत्थे थे, उन्हें आपने जेल से निकाला. वो वहां पर पत्थर फेंक रहे थे तो आपने उन्हें बंदूक से मार दिया.’’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बीते दिनों हैदराबाद में जो हुआ, फिर उन्नाव की घटना हुई इसी कारण अब इस एनकाउंटर पर लोग खुशी जता रहे हैं. लेकिन इससे जस्टिस सिस्टम पर भी सवाल खड़े होते हैं, लोगों का एजेंसियों से भरोसा उठ गया है. ऐसे में समाज को चिंतन करना होगा और सरकारों को एक्शन लेना होगा.

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा, ‘मेरी पार्टी के लोगों को भी हमने जेल भेजा था, जिनपर किसी तरह के आरोप लगे थे. मेरा उत्तर प्रदेश की सरकार से कहना है कि हैदराबाद की पुलिस से यूपी पुलिस को सीख लेनी चाहिए और अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए.’