Luv Sinha

नयी दिल्ली. बिहार (Bihar) में बांकीपुर विधानसभा सीट (Bankipur Assembly Seat) से कांग्रेस (Congress) के टिकट पर चुनाव लड़ रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) के बेटे लव सिन्हा (Luv Sinha) ने रविवार को कहा कि उन्होंने भाजपा (BJP) के इस गढ़ में भगवा पार्टी को चुनौती देकर और अपनी क्षमता साबित कर राजनीतिक पारी की शुरूआत करने का फैसला किया है। पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के तहत आने वाली बांकीपुर विधानसभा सीट पर उनका मुकाबला भाजपा के मौजूदा विधायक से है, जो तीन बार इस सीट से निर्वाचित हुए हैं।

लव ने यह भी कहा कि वह पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के तहत आने वाली बांकीपुर विधानसभा सीट से 2019 के आम चुनाव में अपने पिता को मिली हार का बदला लेने के लिये नहीं लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह पटना के लोगों के कल्याण के लिये यह चुनाव लड़ रहे हैं। अपने पिता की ही तरह अभिनेता से नेता बने लव ने पीटीआई-भाषा से एक साक्षात्कार में कहा कि 2014 के बाद से भाजपा बदल चुकी है।

उन्होंने आरोप लगाया कि अब भगवा पार्टी के अंदर ज्यादा चर्चा नहीं होती है और अब सिर्फ “आदेश” जारी किया जाता है। यह पूछे जाने पर कि बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) जैसी पार्टी की व्यापक उपस्थिति होने के बावजूद उन्होंने अपनी चुनावी पारी का आगाज करने के लिये कांग्रेस को ही क्यों चुना, लव (37) ने कहा, “सिर्फ मैंने कांग्रेस को नहीं चुना है, बल्कि कांग्रेस ने भी मुझे चुना है।”

उन्होंने कहा, “कांग्रेस ने मेरे द्वारा किये गये काम पर गौर किया, यहां तक कि उस वक्त के काम भी…जो मैंने अपने पिता के भाजपा में रहने के दौरान किये थे। मैंने यहां 2009 से अपने पिता के साथ काम किया है। मैं आश्वस्त हूं कि पार्टी (कांग्रेस) ने पिछले चुनावों में मेरे द्वारा किये गये काम पर गौर किया होगा और यही कारण है कि उन्होंने मुझे यह टिकट दिया।”

भाजपा के इस गढ़ में चुनाव लड़ने की बात स्वीकार करते हुए लव ने कहा, “क्या इस कारण लड़ने से डरना चाहिए। मैं अपनी क्षमता साबित करने और अपनी क्षमता दुनिया को दिखाने के लिये लड़ाई लड़ने में यकीन रखता हूं। जीत या हार, कहीं से भी मेरे हाथ में नहीं है। जनता फैसला करेगी और हमें उनके फैसले को स्वीकार करना होगा।” उन्होंने यह भी कहा कि मौजूदा विधायक नितिन नबीन के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर है।

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा उम्मीदवार को यह सीट अपने पिता से विरासत में मिली थी, जो बांकीपुर से विधायक थे। अपने पिता के कारण टिकट मिलने की अटकलों को खारिज करते हुए लव ने कहा कि यदि यह परिवारवाद होता, तो उन्होंने लोकसभा चुनाव लड़ना चुना होता, विधानसभा चुनाव नहीं। लव ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व की भी सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने कोरोना वायरस महामारी के बारे में समय रहते आगाह कर और अन्य कई अहम मुद्दे उठा कर अपनी दूरदृष्टि का परिचय दिया है।

उल्लेखनीय है कि लव ने जेपी दत्ता की फिल्म ‘पलटन’ में अभिनय किया था। बांकीपुर, पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के तहत आता है और इसे भाजपा का एक गढ़ माना जाता है। इस संसदीय सीट पर शत्रुघ्न सिन्हा 2009 और 2014 में भाजपा के टिकट पर निर्वाचित हुए थे। हालांकि, 2019 के चुनाव में शत्रुघ्न (74) ने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और इसमें उन्हें भाजपा के रविशंकर प्रसाद से हार का सामना करना पड़ा था। (एजेंसी)