Foreign Minister S. Jaishankar replied to Rahul Gandhi, finally told why young people do not carry weapons

नई दिल्ली. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को कहा कि कोझिकोड विमान हादसे के बाद मिले संवेदना संदेश बहुत सराहनीय हैं और ये मुश्किल के इस समय में ताकत के स्रोत हैं। उल्लेखनीय है कि श्रीलंका, पाकिस्तान, भूटान, नेपाल, मलेशिया, मालदीव और अन्य देशों के नेताओं ने एअर इंडिया एक्सप्रेस के विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने पर शोक व्यक्त किया था और इस हादसे में मारे गए 18 लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना जताई थी। अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान के राजदूतों ने भी कहा था कि वे इस हादसे की खबर सुनकर दुखी हैं।

जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘कोझिकोड विमान हादसे को लेकर भेजे गए संवेदना संदेशों की बहुत ही सराहना करता हूं। इस तरह का समर्थन मुश्किल समय में ताकत का स्रोत है।” इसके साथ ही उन्होंने भूटान, श्रीलंका आदि देशों के विदेश मंत्रियों को टैग किया है। गौरतलब है कि दुबई से आ रहा एअर इंडिया एक्सप्रेस का विमान शुक्रवार रात कोझिकोड हवाई अड्डे पर उतरने के दौरान रनवे से फिसलकर 35 फुट खाई में गिर गया था जिससे विमान के दो टुकड़े हो गए और पायलट सहित 18 लोगों की मौत हो गई। विमान में चालक दल के छह सदस्यों सहित 190 लोग सवार थे।(एजेंसी)