Rahul gandhi

    नयी दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को रक्षा संबंधित संसद की स्थायी समिति की बैठक में पाकिस्तान, सीमा पर चीन के आक्रामक रवैये और अफगानिस्तान कई इलाकों में तालिबान के कब्जे समेत कई मुद्दे उठाए और कहा कि इन पर भी चर्चा होनी चाहिए। सूत्रों के मुताबिक, समिति के प्रमुख और भाजपा नेता जुआल ओरांव ने इन पर चर्चा से इनकार किया और कहा कि ये विषय एजेंडे के लिए पहले से तय नहीं हैं।  

    सूत्रों ने बताया कि इसके बाद राहुल गांधी बैठक के खत्म होने से कुछ मिनट पहले ही बाहर निकल गए। एक सूत्र ने बताया, ‘‘बैठक के एजेंडे में छावनी बोर्डों कामकाज पर चर्चा करना शामिल था। राहुल गांधी ने कहा कि पिछली कुछ बैठकों से लगातार इसी पर बात हो रही है। उन्होंने कहा कि इस पर बात हो, लेकिन चीन सीमा पर जो कर रहा है, अफगानिस्तान में तालिबान कब्जा कर रहा है, श्रीलंका में चीन अपना प्रभाव बढ़ा रहा है, ऐसे बड़े मुद्दों पर भी चर्चा होनी चाहिए।”  

    सूत्रों ने यह जानकारी भी दी कि राहुल गांधी ने पाकिस्तान से आतंकी खतरे को लेकर चर्चा की मांग उठाई।  सूत्रों के अनुसार, ओरांव ने कहा कि अगर कोई सदस्य किसी विषय पर चर्चा चाहता है तो उसे प्रक्रिया का पालन करना चाहिए और 14 दिन पहले नोटिस देना चाहिए। सूत्रों ने बताया, ‘‘एक अन्य विपक्षी दल के नेता ने भी राहुल गांधी की बात का समर्थन किया और कहा कि चीन की आक्रमकता समेत कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करना जरूरी है।”