Money, Notes
Representational Pic

नयी दिल्ली. आयकर विभाग (Income Tax) ने चेन्नई (Chennai) के चेट्टिनाड समूह (Chettinad Group) के कई ठिकानों पर हाल में मारे गये छापे में 700 करोड़ रुपये से अधिक की कर चोरी का पता लगाया है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने एक बयान में कहा, “तलाशी के दौरान विभिन्न जगहों से बेहिसाब 23 करोड़ रुपये नकद बरामद किये गये।”

उसने कहा, “फिलहाल विभाग 700 करोड़ रुपये से अधिक की आयकर चोरी का पता लगाने में सफल रहा है।” बयान में दावा किया गया है कि अधिकारियों ने छापे के दौरान मियादी जमा के रूप में 110 करोड़ रुपये की विदेशी संपत्ति से जुड़े दस्तावेजों का भी पता लगाया। इसके बारे में आयकर रिटर्न में कोई जानकारी नहीं दी गयी थी और इस पर काला धन कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी।

कर अधिकारियों ने तमिलनाडु के इस समूह के चेन्नई, तिरूचिरापल्ली, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और मुंबई के 60 से अधिक ठिकानों पर नौ दिसंबर को छापे मारे थे।

सीबीडीटी ने कहा कि चेन्नई के इस प्रमुख कारोबारी समूह के बारे में मिली खुफिया जानकारी के आधार पर कार्रवाई की गयी और कर चोरी का पता लगाया गया।

आधिकारिक सूत्रों ने इसकी पहचान 100 साल पुराने चेट्टिनाड समूह के रूप में की है। समूह सीमेंट बनाने, लॉजिस्टिक, निर्माण समेत अन्य कार्यों से जुड़ा है।

बयान के अनुसार नकद निकालने के लिये व्यय को बढ़ा-चढ़ाकर और लाभ कम कर दिखाया गया। 435 करोड़ रुपये के मूल्यह्रास के फर्जी दावे के बारे में भी जानकारी मिली है। (एजेंसी)