rajnath

नयी दिल्ली. एक तरफ जहाँ लद्दाख (Laddakh) सीमा पर भारत-चीन (India-China) तनाव पिछले 5 महीने से व्याप्त है। वहीं भारत (India) अब अपनी सीमाओं को मजबूत करने में लगा है। इसी अहम् कड़ी में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) चीन से सटी सीमा पर कुल 43 अहम पुलों का उद्घाटन करने वाले हैं । जो सैन्य सुरक्षा कि दृष्टि से बहुत ही अहम् साबित होगा।

बता दें कि इन पुलों को सीमा सड़क संगठन (BRO) ने बनाया है। यह सभी पुल देश के अलग-अलग सात राज्यों में निर्मित किये गए हैं , जिनका आज राजनाथ सिंह उद्घाटन करने वाले हैं।

गौरतलब है कि आज ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अरुणाचल प्रदेश के तवांग में निचिफू सुरंग की नींव भी रखने वाले हैं । इसका निर्माण भी BRO कर रहा है , जिसकी मदद से अब सेना के लिए सीमा तक जाना भी आसान होगा। यह भी प्रासंगिक है कि इन निर्मित कुल 43 पुलों में से करीब 22 पुलों का सीधा सीधा संबंध चीन की सीमा से है। वहीं यह पूल  सेना की हलचल, वाहनों और हथियारों को ले जाने के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण साबित होंगे । 

खबर यह भी है कि आने वाले कुछ दिनों में PM मोदी देश को रोहतांग टनल का भी उद्घाटन करके देश को समर्पित करेंगे। जहाँ एक तरफ भारत -चीन सीमा पर दो-दो हाथ करने को तैयार हैं वहीं अब भारतीय सेना लद्दाख से लेकर अरुणाचल और उत्तराखंड, सिक्किम में पूरी तरह से हाई अलर्ट पर है और ऐसे में इन सभी पूलों के चलते सेना के लिए बहुत कुछ आसान होने वाला है।

आपको बता दें कि कुछ ही दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी देश को रोहतांग टनल समर्पित करने वाले हैं, जिसका सामरिक महत्व काफी अधिक है। चीन के साथ जब सीमा पर तनाव है और भारतीय सेना लद्दाख से लेकर अरुणाचल और उत्तराखंड, सिक्किम में सतर्क हैं ऐसे में इन पुलों के मिलने से सेना को काफी मदद पहुंचेगी।