Mehul Choksi Updates: Dominica Court refuses to grant bail to Mehul Choksi

    नयी दिल्ली. भारत भगोड़े करोबारी मेहुल चोकसी को कैरिबियाई् क्षेत्र से वापस लाने के लिये डोमिनिका , एंटीगुआ और बारबूड़ा की सरकार के संपर्क में है। सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। चोकसी हाल ही में एंटीगुआ और बारबूडा से फरार हो गया था और उसके खिलाफ इंटरपोल के “येलो नोटिस” के मद्देनजर पड़ोसी डोमिनिका में गिरफ्तार किया गया था। एंटीगुआ की मीडिया में बुधवार को यह खबर आई।

    सूत्रों ने कहा कि भारत इस मामले में एंटीगुआ और बारबूडा के संपर्क में था और अब उसने डोमिनिका सरकार के साथ संपर्क स्थापित किया है। एक सूत्र ने बताया, “हम उनके संपर्क में हैं। चोकसी और अन्य भगोड़े को वापस लाने को लेकर हमारी रूचि दृढ़ है।” उन्होंने कहा, “हमारा ध्यान इन्हें जल्द से जल्द देश वापस लाने पर है।”

    समझा जाता है कि जांच एजेंसियां चोकसी को भारत लाने के लिये मामले को आगे बढ़ा रही है। एंटीगुआ और बारबूडा के प्रधानमंत्री गेस्टॉन ब्राउनी ने कहा कि उन्होंने डोमिनिका को हीरा कारोबारी को सीधे भारत को सौंपने को कहा है।

    मंगलवार रात को डोमिनिका में चोकसी की गिरफ्तारी की खबर आने के बाद ब्राउनी ने मीडिया से कहा था कि उन्होंने चोकसी को भारत को भेजने के संबंध में डोमिनिका के प्रशासन को स्पट निर्देश दिया है।

    एंटीगुआ न्यूज ने ब्राउनी के हवाले से कहा, “हमने उनसे (डोमिनिका) चोकसी को एंटीगुआ को नहीं भेजने को कहा है । उसे भारत वापस भेजने की जरूरत है जहां उसे अपने खिलाफ आपराधिक आरोपों का सामना करना है।”

    चोकसी पंजाब नेशनल बैंक में 13,500 करोड़ रूपये के रिण धोखाधड़ी के मामले में वांछित है। इस मामले में उसके रिश्तेदार नीरव मोदी पर भी धोखाधड़ी का आरोप है। नीरव मोदी अभी लंदन की जेल है।