स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कबूला, देश के कोरोना वायरस कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज पर

नई दिल्ली: कोरोना महामारी ने जहां पूरी दुनिया को परेशान कर रखा है, वहीं इस महामारी ने भारत में भी लोगों को बुरी तरह से प्रभावित किया है। और अब केंद्र सरकार ने भी यह मान लिया है कि देश के कई जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज तक पहुंच गया है।  

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने अपने साप्ताहिक कार्यक्रम संडे संवाद में यह स्वीकार किया कि कोरोना संक्रमण कम्युनिटी ट्रांसमिशन के चरण में पहुंच गया है। हालांकि हर्षवर्धन ने स्पष्ट करते हुए कहा कि यह देश भर में नहीं हो रहा बल्कि कुछ जिलो में देखने को मिल रहा है।  डॉ. हर्षवर्धन ने केरल के हालात को लेकर कहा कि शुरुआती वक्त में केरल में कोरोना कंट्रोल में था। हालांकि हाल ही में ओणम त्योहार के दौरान हुई लापरवाही की कीमत केरल भुगत रहा है। अनलॉक अवधि के दौरान गतिविधियों शुरू किए जाने पर राज्य के कई जिलों में कोरोना के मामले बढ़े हैं। साथ ही उन्होने त्योहारों के मौसम में लोगों से सावधानी बरतने की अपील भी की।

देश और दुनिया में कोरोना वायरस की वैक्सीन पर काम चल रहा है। भारत में भी कोरोना की वैक्सीन बनाई जा रही है। वहीं कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वायरस वैक्सीन पर पुणे स्थित सिरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया काम कर रहा है। उम्मीद है कि साल के आखिर में इसका क्लिनिकल ट्रायल शुरू हो जाएगा। 

कई लोगों को यह नहीं पता होगा कि कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज का मतलब क्या होता है? तो चलिए आपको बताते हैं कि यह आखिर कौन-सा स्टेज होता है?

•विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार कम्युनिटी ट्रांसमिशन का मतलब होता है, कि कोई यह नहीं बता सकता कि बड़ी संख्या में लोगों को कोविड संक्रमण कैसे हुआ? यानी सरकारी मशीनरी यह नही पता कर पाती कि नए केसेस आखिर किस वजह से बढ़ रहे हैं?

•सरल भाषा में कहें तो कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया तो यह बताना मुश्किल हो जाता है कि उस तक यह इंफेक्शन किस तरह पहुंचा होगा।

•कम्युनिटी ट्रांसमिशन का मतलब है कि वायरस अब कम्युनिटी में फैल रहा है और उन लोगों भी संक्रमित हो रहे हैं, जो प्रभावित इलाके में नहीं गए हैं या कोरोना मरीजों से नहीं मिले हैं। इस स्टेज में किसी को भी या सभी को इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है।