air-force

    नयी दिल्ली. फिलहाल देश (India) में कोरोना (Corona) के चलते चारो तरफ हाहाकार मचा हुआ है। इस महामारी  में आज सबसे बड़ा संकट ऑक्सीजन (Oxygen) का है, क्योंकि कई अस्पतालों में फिलहाल ऑक्सीजन की घनघोर कमी है, तो कहीं सप्लाई में बड़ी किल्लत है। लेकिन अब इसके निदान के लिए  भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) ने अपना मोर्चा संभाल लिया है। जी हाँ अब इंडियन एयरफोर्स भी ऑक्सीजन कंटेनर्स को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने में जुट गई है।

    भारतीय वायुसेना  के दो C17 विमान काम पर लगे:

    दरअसल भारतीय वायुसेना के दो C17 विमानों ने दो बड़े ऑक्सीजन कंटेनर्स, IL 76 ने एक खाली कंटेनर को बंगाल के पन्नागढ़ पहुंचाया है । वहां इन तीनों कंटेनर्स को ऑक्सीजन से भरा जाएगा और फिर दिल्ली लाया जाएगा। इतना ही नहीं वायुसेना की ओर से ऑक्सीजन की सप्लाई को पूरा करने के लिए अब देश के अलग-अलग जगहों पर भी इसी तरह तरह के और भी ऑपरेशन चलये जायेंगे ।

    बात यही नहीं है अब  वायुसेना 23 मोबाइल ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट्स को जर्मनी से भी एयरलिफ्ट करने वाली है। ताकि अस्पतालों के पास इन्हें लगाया जा सके। जिससे  किऑक्सीजन की सप्लाई को सुचारू रूप से चालू रखा जाए। बता दें कि इससे पहले वायुसेना ने केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के लेह में इसी तरह कोरोना टेस्टिंग सेटअप को पहुंचाया था , ताकि टेस्टिंग की प्रक्रिया में किसी तरह की कोई रुकावट ना आए। गौरतलब है कि देश के कई राज्यों के अस्पताल में इस वक्त ऑक्सीजन की भारी किल्लत हो रही है।

    बोकारो से लखनऊ को चली ऑक्सीजन एक्सप्रेस:

    गौरतलब है कि फिलहाल देश के कई राज्यों में ऑक्सीजन का घनघोर संकट है। इसके चलते अब  झारखंड के बोकारो से ऑक्सीजन एक्सप्रेस के जरिए इसकी सप्लाई को फी से तेज गति दी जा रही है। बता दें कि बोकारो से शुक्रवार को लखनऊ के लिए ऑक्सीजन एक्सप्रेस रवाना हुई थी। जिसमे फिलहाल कुल तीन टैंकर भेजे गए हैं। इसी के साथ ऑक्सीजन एक्सप्रेस अभी लखनऊ से यहां 3 टैंकर्स लाई है, जिसमे लगभग 50 टन लिक्विड ऑक्सीजन 4 घंटे में भरा गया है। इस ऑक्सीजन एक्सप्रेस के द्वारा बोकारो से उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश , छत्तीसगढ़, बिहार और बंगाल में सप्लाई हो रही है।