‘इंटक’ नए श्रम कानूनों के विरोध में राष्ट्रव्यापी ‘रथ यात्रा’ निकालेगी

नयी दिल्ली. इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (Indian National Trade Union Congress) ने तीन केंद्रीय श्रम कानूनों को ‘श्रमिक विरोधी’ (Labour laws) बताते हुए मंगलवार को कहा कि वह इसके विरोध में देशभर में ‘रथ यात्रा’ (Rath yatra) निकालेगी। इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (इंटक) की राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक में संगठन के अध्यक्ष के एन त्रिपाठी (KN Tripathi) ने कहा कि श्रम कानूनों के खिलाफ राष्ट्रव्यापी ‘रथ यात्रा’ निकालने का प्रस्ताव है।

इंटक ने एक बयान में कहा, ‘‘ऐसे कई मुद्दे हैं जिन पर सरकार को बदलाव करना होगा। तीन कृषि कानून बनाए गए। इसी तरह श्रमिक विरोधी तीन श्रम कानून भी बनाए गए।” त्रिपाठी ने दावा किया कि केंद्र सरकार श्रमिकों के हितों की उपेक्षा करते हुए 47 श्रम कानूनों को खत्म करते हुए चार श्रम संहिता लायी है। इससे श्रमिकों के अधिकारों का हनन होगा।(एजेंसी)