drone
File Pic

    जम्मू: एक बड़ी खबर के अनुसार जम्मू (Jammu) के कालूचक (Kaluchak) और कुंजवानी (Kunjwani) में आज सुबह फिर एक ड्रोन दिखने की सूचना मिली है। हालांकि इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। दरअसल एयरफोर्स स्टेशन पर हुए ड्रोन हमले (Jammu Air Force Station Blast) के बाद से ही अब लगातार सीमा पार से ड्रोन हमले की खतरनाक साजिश रची जा रही है। इसी क्रम में आज यानी बुधवार तड़के कालूचक और कुंजावनी में एक बार फिर संदिग्ध ड्रोन हवा में उड़ते देखे गए हैं। सूत्रों के नुसार यह घटना सुबह 5 बजे के करीब की है। 

    ड्रोन दिखने की यह दूसरी घटना:

    वहीं सेना के ख़ुफ़िया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कालूचक के गोस्वामी एनक्लेव के पास किसी संदिग्ध वस्तु को आसमान में की तरफ उड़ते देखा गया। वहीं कुंजावनी के करीब भी एक ड्रोन नजर आया है। खबर है कि ये संदिग्ध ड्रोन करीब 800 मीटर की ऊंचाई पर उड़ रहे थे।

    बता दें कि इससे पहले भी बीते रविवार की रात कालूचक मिलिट्री स्टेशन के करीब फिर दो ड्रोन नजर थे। गौरतलब है कि एयरफोर्स स्टेशन पर हुए ड्रोन हमले के बाद से ही सुरक्षाबल अलर्ट हैं और ऐसे में ड्रोन दिखने के तुरंत बाद इन पर जवाबी फायरिंग की गई जिसके बाद दोनों ड्रोन वहां से गायब हो लिए।

    NIA के पास ड्रोन अटैक की जांच:

    विदित हो कि जम्मू के एयरफोर्ट स्टेशन पर बीते शनिवार रात को हुए ड्रोन हमले के बाद से ही सुरक्षा एजेंसी लगातार लगातार अलर्ट पर हैं। इस हमले की जांच अब NIA के पास है और इसके पीछे किसी बड़ी साजिश का अब अंदेशा है। ऐसा लगता है कि आतंकी अब भारत के सैन्य अड्डों को निशाना बनाने की फिराक में हैं और इसी मकसद के चलते जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर ये हमला हुआ था।

    गौरतलब है कि जम्मू एयरफोर्स स्टेशन और अंतरराष्ट्रीय सीमा के बीच कुल हवाई दूरी सिर्फ 14 किलोमीटर है। इस इलाके में ऐसे और भी कई सैन्य ठिकाने और प्रतिष्ठान मौजूद हैं। ऐसे में यह माना जा रहा है कि आतंकी सीमा पार से ड्रोन के जरिए हमले की बड़ी साजिश रच रहे हैं। फिलहाल सीमा पर इस प्रकार के हालात को देखते हुए सभी अब सभी सैन्य अड्डों के अलावा सीमा पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है और सेना हाई अलर्ट पर है।