सारा की याचिका पर जज ने सुनवाई से किया इनकार, 14 को दूसरी बेंच करेगी सुनवाई

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और जम्मू कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला की बहन सारा अब्दुल्ला पायलट ने जम्मू- कश्मीर पब्लिक सेफ्टी एक्ट, 1978 के तहत उमर की नजरबंदी को

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और जम्मू कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला की बहन सारा अब्दुल्ला पायलट ने जम्मू- कश्मीर पब्लिक सेफ्टी एक्ट, 1978 के तहत उमर की  नजरबंदी को चुनौती देते हुए SC के समक्ष याचिका दायर की थी। जिसपर आज सुनवाई होने वाले थी। 

उच्चतम न्यायालय के जज जस्टिस मोहन एम शांतानागौदर ने इस याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया हैं। इस याचिका की सुनवाई पहले कल होने का फैसला किया गया था और इसकी सुनवाई एक अलग बेंच करने वाली थी। ताज़ा सूचना के अनुसार, अब इस याचिका की सुनवाई के लिए उच्चतम न्यायालय ने 14 फरवरी की तारीख तय की हैं।

बीते वर्ष अगस्त में अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद से ही उमर अब्दुल्ला अपने श्रीनगर के हरि निवास में बंद हैं। जब वह 6 महीने बाद रिहा होने वाले थे तब 6 फरवरी 2020 को PSA के अंतर्गत उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। जिसके बाद उन्हें बिना ट्रायल 3 महीने के लिए जेल में भी डाला जा सकता है।