दानिश कानेरिया के बयान से भारतीय राजनीति में नया बवाल

नई दिल्ली, एक तरफ देश में नागरिकता संशोधन कानुन की आंच में पूरा देश जल रहा है। वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान क्रिकेट का एक पूर्व नामचीन हिन्दू खिलाडी ने पाकिस्तान पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है वो भी इसीलिए

नई दिल्ली, एक तरफ देश में नागरिकता संशोधन कानुन की आंच में पूरा देश जल रहा है। वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान क्रिकेट का एक पूर्व नामचीन हिन्दू खिलाडी ने पाकिस्तान पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है वो भी इसीलिए क्यूंकि वह हिन्दू था। उनके इस बयान से भारतीय राजनीति में नया बवाल आ गया है। विदित हो की कुछ दिनों पहले ही पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने यह कहकर सनसनी फैला दी थी कि उनकी टीम में हिंदुस्तानी खिलाडियों के साथ भेदभाव पूर्ण रवैया अपनाया जाता है। 

प्राप्त खबर के अनुसार अब पाकिस्तान के पूर्व नामचीन स्पिनर दानिश कनेरिया ने भी यह आरोप लगाया कि जब वह टीम में थे तो उनके साथी मुसलमान खिलाडियों को उनके साथ खाना खाने में समस्या होती थी। उन्होंने कहा कि " पाक खिलाड़ियों को मेरे साथ खाने में समस्या होती थी क्योंकि मैं टीम में एकमात्र हिंदू खिलाड़ी था। शोएब अख्तर ने सच ही कहा है। अब मैं उन खिलाड़ियों के नाम बताऊंगा जो मुझसे बात करना भी पसंद नहीं करते थे क्योंकि मैं एक हिंदू था। उस समय इस पर बोलने की हिम्मत नहीं थी, लेकिन अब मैं बोलूंगा भी और उनके नाम भी बताऊंगा। 

 
आपको बता दें की कुछ समय पहले ही पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज ने येह कहकर सनसनी मचा दी थी कि पकिस्तान टीम में हिंदुस्तानी खिलाडियों के साथ भेदभाव पूर्ण व्यवहार होता है। उन्होंने कहा था कि उनके कुछ साथी खिलाड़ी टीम के ही एक अन्य खिलाड़ी दानिश कनेरिया के साथ इसलिए पक्षपातपूर्ण व्यवहार करते थे क्योंकि वो हिंदू थे। वहीं कुछ पाकिस्तानी क्रिकेटर तो दानिश कनेरिया के साथ खाना भी खाने से परहेज़ रखते थे क्यूंकि उनका एकमात्र दोष यह था की वो एक हिंदू थे। 
 
इधर इस खुलासे के बाद हिंदुस्तान की राजनीति में उथल-पुथल मच गयी है। अब इसी के चलते बीजेपी ने कांग्रेस पर निशाना साधा है। बीजेपी कर्नाटक की तरफ से शोएब अख्तर का वीडियो ट्वीट करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधते हुए अपने ट्वीट में लिखा है कि , " पाकिस्तानी क्रिकेटर दानिश कनेरिया के साथ खाना भी खाने से परहेज करते थे, उन्हें लगातार परेशान किया जाता था क्योंकि वो हिंदू थे। इस बात का खुलासा खुद शोएब अख्तर ने किया है। अब आप इसी बात से अंदाजा लगाइए कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ किस तरह का व्यवहार किया जाता होगा। इसी पर आगे बीजेपी कर्नाटक ने कांग्रेस पर सवाल दागा है कि क्या अभी भी आप लोग इसके समर्थन में हैं? शेम!!! 

 
बीजेपी के आईटी सेल प्रमुख ने इस मसले पर विपक्ष को घेरा। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि अगर दानिश कनेरिया जैसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के साथ पाकिस्तान में इस तरह का व्यवहार हो रहा है, तो सोचिए कि गैर मुस्लिमों के साथ किस तरह का व्यवहार किया जाता होगा। अगर ऐसे में CAA इन हिन्दू शरणार्थियों को मददकरता है, तो मुस्लिम, कांग्रेस और कम्युनिस्ट क्यों विरोध कर रहे हैं, मुझे नहीं पता। 

 
वही पाकिस्तान से यह खबर आ रही है कि दानिश कानेरिया ने प्रधान मंत्री इमरान खान से मदद मांगी है और उनसे इस मुद्दे पर हस्तक्षेप करने को कहा है। उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा है कि " मेरी ज़िन्दगी में सब कुछ अच्छा नहीं चल रहा है। मैंने पाकिस्तान क्रिकेट को अपना सब कुछ दिया है और मुझे इस बात पर गर्व है। परन्तु जिस प्रकार का रवैया अब अपनाया जा रहा है, उस पर मुझे हमारे पूर्व श्रेष्ठ खिलाडियों का साथ चाहिए।"