Kangana Ranaut has knocked the court door, demand for cancellation of FIR, Appeal to stop summons

मुंबई: अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की मुश्किलें और भी बढ़ सकती हैं। मुंबई (Mumbai) के एक कोर्ट (Court) ने सोशल मीडिया (Social Media) पर एक समुदाय के खिलाफ ‘घृणा’ फैलाने वाले और ‘अपमानजनक’ बयानों के लिए कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल के खिलाफ बृहस्पतिवार को पुलिस से जांच शुरू करने को कहा ।

कोर्ट ने पांच दिसंबर तक जांच रिपोर्ट भी पेश करने को कहा

मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट भागवत टी जिरापे ने जांच का आदेश देते हुए कहा कि आरोपियों की भूमिका तय करने के लिए यह करना जरूरी है, अदालत ने संबंधित थाने को पांच दिसंबर तक जांच रिपोर्ट भी पेश करने को कहा। वकील अली काशिफ खान देशमुख ने यह कहते हुए अदालत का रूख किया है कि अंबोली पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की, जहां पर उन्होंने कंगना और उनकी बहन के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी थी।

ट्विटर ने रंगोली चंदेल अकाउंट को निलंबित कर दिया था

शिकायत के मुताबिक चंदेल ने एक खास समुदाय को निशाना बनाते हुए अप्रैल में ट्विटर (Twitter) पर घृणा फैलाने वाली टिप्पणी की जिसके बाद माइक्रोब्लॉगिंग साइट ने उनके अकाउंट को निलंबित कर दिया था। ‘क्वीन’ की अदाकारा रनौत ने बाद में अपनी बहन के विवादित ट्वीट के समर्थन में एक वीडियो पोस्ट किया था। शिकायत में कहा गया कि विभिन्न सोशल मीडिया मंचों पर जारी वीडियो में उन्होंने उस समुदाय के पंथ को आतंकवादी बताया। इस तरह दोनों आरोपियों ने एक समुदाय के खिलाफ नफरत फैलाने वाली और अपमानजनक टिप्पणी की।

बांद्रा पुलिस ने FIR दर्ज की थी

मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट ने शिकायतों के सत्यापन के बाद कहा कि आरोपियों के खिलाफ सबूत इलेक्ट्रॉनिक स्वरूप के हैं और आरोपी के खिलाफ कार्यवाही के लिए पुलिस की जांच जरूरी है । हाल में एक अदालत ने बॉलीवुड के एक कास्टिंग निर्देशक और फिटनेस ट्रेनर की शिकायत पर अदाकारा और उनकी बहन के खिलाफ जांच का आदेश दिया था जिसके बाद बांद्रा पुलिस (Bandra Police) ने FIR दर्ज की थी। कास्टिंग निर्देशक ने अदाकारा और उनकी बहन पर अपनी टिप्पणी के जरिए समुदायों के बीच रंजिश बढ़ाने के आरोप लगाए थे।