सत्ता के मद में मजदूरों को पीटते दिखे नवाब मालिक के भाई, देखें वीडियो

मुंबई, महाराष्ट्र में राजनीतिक घमासान जोरो पर है। कभी यह मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर हो रही है या फिर कभी एक किताब को लेकर बीजेपी, कांग्रेस और शिवसेना का आपस में राजनीतिक द्वन्द होता रहता है। ताजा

मुंबई, महाराष्ट्र में राजनीतिक घमासान जोरो पर है। कभी यह मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर हो रही है या फिर कभी एक किताब को लेकर बीजेपी, कांग्रेस और शिवसेना का आपस में राजनीतिक द्वन्द होता रहता है। ताजा घटनाक्रम में महाराष्ट्र महा विकास अघाड़ी के मंत्री और एनसीपी के कद्दावर नेता नवाब मालिक के भाई कप्तान मलिक के एक वीडियो को लेकर है। इस वीडियो में कप्तान मालिक कुछ गरीब मजदूरों की बेहरहमी से पिटाई करते हुए दिख रहे हैं। 

जब सोशल मीडिया में यह वीडियो वायरल हुआ तो कप्तान मालिक ने सफाई देते हुए कहा वहां बिना इजाजत सड़क खोदी जा रही थी इसलिए उन्होंने मजदूरों को पीटा। साथ ही उन्होंने यह भी दलील दी कि अगर जनसेवा के लिए जरुरत पड़ी तो वे फिर से ऐसा ही करेंगे। आपको बता दें की इस वीडियो में उद्धव ठाकरे सरकार के कद्दावर नेता गरीब मजदूरों को लगातार बेहरहमी से पीट रहे है और उनकी कोई दलील भी नहीं सुन रहे हैं। 

Send a message

इस वीडियो में यह भी दिख रहा है कि कप्तान मलिक अपनी जनसेवा की दुहाई देते हुए मजदूरों को थप्पड़ मारते हुए शान से हाथ पैर काट देने की धमकी भी दें रहे है। हालाँकि उनके हिसाब से ये सब वे जनसेवा के नाम पर ही कर रहे हैं। इसके पहले भी दिहाड़ी मजदूरों की पिटाई के मामले सामने आ चुके हैं । यह घटना रेलवे के कुछ कार्य को लेकर है जहाँ किसी कंपनी के मजूदरों को काम पर लिया गया था जो शायद कप्तान मालिक के किसी ख़ास की नहीं थी। बस इसी मुद्दे पर उन्होंने इन मजदूरों की थप्पड़ों से जनसेवा कर दी। इस वीडियो में कप्तान मालिक कंपनी वालों को धमकी देते हुए दिखे कि, उनको बताओ मैं कप्तान मलिक बोल रहा हूं, तेरी कंपनी का बाप बोल रहा हूं. लगा फोन और दोबारा इधर दिखे न तो हाथ-पैर काट डालूंगा। 

जो होना था वह हुआ , अब ये देखना प्रासंगिक होगा कि कप्तान मलिक़ की यह थप्पड़ों वाली जनसेवा उनके भाई नवाब मालिक और एनसीपी को कितनी भारी पड़ती है। या फिर वे लोग भी इसे जनसेवा का ही तरीका बताके अपना पल्ला झाड़ लें।