बिहार चुनाव में रखें भाषा पर काबू: रामविलास पासवान

नई दिल्ली: दिल्ली चुनाव में भाजपा नेताओं द्वारा दिए गए विवादित बयान को लेकर एनडीए के अन्य दलों के नेताओं में ख़लबली मची हुई हैं. दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली हार इन्हीं नेताओं के

नई दिल्ली: दिल्ली चुनाव में भाजपा नेताओं द्वारा दिए गए विवादित बयान को लेकर एनडीए के अन्य दलों के नेताओं में ख़लबली मची हुई हैं. दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली हार इन्हीं नेताओं के बयानबाजी  के वजह से हैं.  इसी पर इशारा करते हुए केंद्रीय मंत्री और लोजपा के वरिष्ट नेता रामविलास पासवान ने कहा, " बिहार चुनाव में नेताओं को अपनी भाषा पर काबू रखना होंगा."

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने एक इंटरव्यू में कहा कि, " बिहार में साल के आखरी में विधानसभा चुनाव होने वाला हैं. उन्होंने कहा, " अनुच्छेद-370 खत्म हो चुका है, तीन तलाक पर प्रतिबंध और राम जन्मभूमि विवाद भी हल हो चुके हैं, इसलिए अब राज्य चुनाव स्थानीय मुद्दों पर होने चाहिए" 

पासवान ने कहा, "राष्ट्रीय चुनाव में नरेंद्र मोदी का कोई जोड़ नहीं है.लेकिन हालिया हुए राज्य चुनावों ने साबित किया है कि स्थानीय विकास के मुद्दों पर ध्यान केंद्रित होना चाहिए और भाषा पर संयम रखना चाहिए" 

महागठबंधन एक डूबता हुआ जहाज
महागठबंधन पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, " महागठबंधन एक डूबता हुआ जहाज हैं, जिसके साथ कोई नही जाएगा." उन्होंने कहा, " नितीश कुमार के अगुवाई में एनडीए पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगी. " उन्होंने कहा, " विपक्ष में क्या है? लालू यादव जेल में हैं, वह बीमार हैं। अन्य दलों के अपने-अपने राग हैं। ऐसे में कौन विपक्ष की तरफ जाएगा?

सीट को लेकर कोई मतभेद नहीं 
सीट बटवारे में मतभेद पर उन्होंने कहा, " सबकुछ सुचारु रूप से हल हो जाएगा. सीट बंटवारे पर कोई मतभेद नहीं है."

गौरतलब है कि, दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा को करारी हार झेलना पड़ी है. आप को जहाँ विधानसभा की 70 मे से 62 सीटों  पर जीत मिली, वही भाजपा सिर्फ़ आठ सीट सिमट गई . इस चुनाव में भाजपा जहाँ अपने 21 साल का वनवास ख़त्म होने का सपना देख रही थी. चुनाव प्रचार में भाजपा नेताओं ने कई विवादित बयान दिए थे, जिसके कारण पार्टी की बड़ी किरकिरी हुई थी. चुनाव में हार का एक मुख्या कारण इन नेताओं की बयानबाजी भी थी.