CM Pinarayi Vijayan

    कन्नूर: केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सोमवार को कन्नूर जिले के धर्मधाम विधानसभा सीट से नामांकन दाखिल किया। राज्य में छह अप्रैल को मतदान होगा। विजयन, कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए दस्तावेज की दो प्रतियां लेकर पूर्वाह्न 11 बजे कन्नूर में कलेक्टर के कार्यालय पहुंचे।

    मार्क्सवादी नेता (76) ने मुंह पर मास्क, हाथ में दस्ताने पहन रखे थे। उनके साथ माकपा के कन्नूर के जिला सचिव एमवी जयरंजन के अलावा पार्टी के कई नेता भी नजर आए। विजयन ने ट्वीट किया, ‘‘ एलडीएफ के उम्मीदवार के तौर पर धर्मधाम से नामांकन दाखिल किया। पिछले पांच वर्षों में विकास एवं कल्याणकारी परियोजनाओं को क्रियानवित किया… इसे आगे और मजबूत किए जाने की जरूरत है। हम केरल की समृद्धि सुनिश्चित करने के लिए लोगों के साथ खड़े हैं। लोग दिल से कहते हैं… यकीनन एलडीएफ सत्ता में आएगी और हमें भी विश्वास है।”

    [read_also content=”सभी सरकारी स्कूलों में हाईटेक कक्षाओं वाला देश का पहला राज्य बना केरल: मुख्यमंत्री~https://www.enavabharat.com/other-states-news-hindi/kerala-becomes-first-state-in-the-country-with-high-tech-classes-in-all-government-schools-chief-minister-174266 

    सत्तारूढ़ माकपा नीत वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) लगातार दूसरी बार सत्ता में आकर विपक्षी दलों के उस अंधविश्वास को तोड़ना चाहती है, कि यहां लगातार दूसरी बार सत्ता में आना मुमकिन नहीं है।विजयन दूसरी बार धर्मधाम से चुनाव लड़ रहे हैं।

    विजयन माकपा के पोलितब्यूरो के एकलौते सदस्य हैं, जो चुनाव लड़ रहे हैं। विजयन छठी बार विधानसभा चुनाव लड़ने जा रह हैं। विजयन ने इससे पहले कन्नूर के कुथुपरम्बा का तीन बार 1970, 1977 तथा 1991 में और पय्यनूर का 1996 में प्रतिनिधित्तव किया था। 2016 में उन्होंने धर्मधाम से ही चुनाव लड़ा था और एकबार फिर इस साल वहीं से किस्मत आजमा रहे हैं। वर्ष 2016 में 140 सदस्यीय केरल विधानसभा में एलडीएफ के 91 सीट हासिल करने के बाद विजयन को मुख्यमंत्री बनाया गया था।