kisan-andolan

सोनीपत. किसान आंदोलन (Farmer Agitation) के मद्देनजर सोनीपत (Sonipat) के जिला उपायुक्त ने राई और कुण्डली औद्योगिक क्षेत्र में महिलाओं की रात की पाली में ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही किसान अंदोलन के मद्देनजर कोविड-19 दिशानिर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने को कहा है। किसान आंदोलन के मद्देनजर उपायुक्त श्याम लाल पूनिया ने लघु सचिवालय में अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि दिल्ली कुण्डली बॉर्डर पर दिल्ली कूच को लेकर किसानों ने जमावड़ा किया हुआ है ऐसी स्थिति में कोरोना के संक्रमण को देखते हुए वहां स्वास्थ्य संबंधी सभी बारिकयों का ध्यान रखें।

पूनिया ने औद्योगिक क्षेत्र राई व कुण्डली के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सभी कंपनी मालिकों से संपर्क बनाए रखें और कंपनियों में महिलाओं की रात की पाली की ड्यूटी पर रोक लगाई जाए व महिलाओं की छुट्टी शाम को पांच बजे से पहले की जाए ताकि महिलाओं को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि किसानों को मास्क का प्रयोग करने तथा सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए जागरूक करें ताकि कोरोना के संक्रमण से बचा जा सके। पूनिया ने किसानों का आह्वान करते हुए कहा कि कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए सभी किसान मास्क का प्रयोग करें तथा सामाजिक दूरी का भी पालन करें ताकि आप अपने व दूसरे लोगों के स्वास्थ का ध्यान रख सके। उपायुक्त ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि कोविड-19 को देखते हुए राई जीटी रोड़ से कुण्डली बॉर्डर तक कोविड-19 जांच टीमों का गठन किया जाए ताकि जो किसान जांच करवाना चाहते हैं उनकी कोविड-19 जांच की जा सके।

उन्होंने इसके अलावा कुण्डली व राई के लोगों का आह्वान किया कि वे बिना किसी कार्य जीटी रोड़ पर इक्कठा हों तथा जीटी रोड़ पर किसी प्रकार की रेहड़ी या दुकान न लगाएं। उपायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि राई व कुण्डली जीटी रोड़ पर स्थित पेट्रोल पम्पों, शराब की दुकानों को बंद किया जाए। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा जीटी रोड़ पर जाम की स्थिति को देखते हुए जीटी के रूटों को बदला गया है। उपायुक्त के मुताबिक पानीपत से सोनीपत की ओर जीटी रोड़ पर आने वाले यातायात को पानीपत से गोहाना की ओर मोड़ने के लिए पानीपत प्रशासन से बातचीत की गई है।