सुरक्षा के कड़े इंतजाम (Photo Credits-ANI Twitter)
सुरक्षा के कड़े इंतजाम (Photo Credits-ANI Twitter)

    नई दिल्ली: कृषि कानूनों (Farmers Protest) को लेकर किसानों का हल्ला बोल जारी है। केंद्र और किसान नेताओं के बीच कई दौर की बातचीत हुई है लेकिन मामले का समाधान अब तक नहीं निकल सका है। इसी बीच संसद के मानसून सत्र (Parliament Monsoon Session 2021) की कार्यवाही का आज का दिन बहुत अहम माना जा रहा है। सदन में हंगामे के आसार हैं तो दूसरी तरफ जंतर मंतर पर कुछ बढ़ा होने की खबरें हैं।  हालांकि इसे लेकर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) सहित तमाम सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट मोड़ पर हैं। दिल्ली के जंतर-मंतर पर किसान संसद चलने वाली है।  

    ज्ञात हो कि कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को कुछ शर्तों के साथ दिल्ली पुलिस ने इजाजत दी है। साथ ही आईबी ने खालिस्तानी आंतकी साजिश का अलर्ट जारी किया हुआ है। सिंघु बॉर्डर और जंतर-मंतर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। किसानों को रोजाना 11 बजे से 5 बजे तक जंतर-मंतर पर प्रदर्शन की इजाजत दी गई है।   

    उल्लेखनीय है कि आज किसान जंतर मंतर पर नए कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन करेंगे। इस प्रदर्शन में किसान कई जगहों से जंतर मंतर आएंगे। इस दौरान टिकरी बॉर्डर पर सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं।

    दिल्ली के बाहरी जिला के डीसीपी परविंदर सिंह ने कहा कि किसानों के प्रदर्शन को ध्यान में रखकर टिकरी बॉर्डर पर प्रतिबंध की व्यवस्था की गई। सिर्फ सिंघु बॉर्डर से आने जाने की अनुमति है। टिकरी बॉर्डर से किसानों के प्रदर्शन से संबंधित आवाजाही की अनुमति नहीं है। बाकी अन्य तरह की आवाजाही पर रोक नहीं है।

    दूसरी ओर गाजीपुर बॉर्डर से किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि 200 लोग संसद जाएंगे और वहां किसान संसद लगाएंगे और पंचायत करेंगे। यह सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगा। हम यहां से सिंघु बॉर्डर जाएंगे और वहां से बसों से जंतर मंतर जाएंगे। जंतर-मंतर पर पंचायत होगी जिसे किसान संसद का नाम दिया गया है।