Kshitij Prasad not misbehaved: NCB

मुंबई: एनसीबी (NCB) ने ड्रग्स केस (Drugs Case) मामले में गिरफ्तार धर्माटिक इंटरटेनमेंट (Dharmatic Entertainment) के पूर्व कार्यकारी निर्माता क्षितिज रवि प्रसाद (Kshitij Ravi Prasad) के साथ हिरासत में बदसलूकी के आरोपों से सोमवार को इनकार किया। एनसीबी ने इस संबंध में लगाए गए आरोपों को ‘‘शरारतपूर्ण और पूरी तरह गलत” बताया।

एनसीबी ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि उसने एक खबर देखी है जिसमें प्रसाद के वकील सतीश मानशिंदे (Satish Maneshinde) ने आरोपी के साथ हिरासत में ‘‘बदसलूकी” के बारे में कहा है। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत से संबंधित ड्रग्स केस में पूछताछ के बाद प्रसाद को एनसीबी ने शनिवार को गिरफ्तार किया था।

अदालत ने धर्माटिक इंटरटेनमेंट (करण जौहर के धर्मा प्रोडक्शन की सहयोगी कंपनी) के पूर्व कार्यकारी निर्माता प्रसाद को तीन अक्टूबर तक एनसीबी की हिरासत में भेज दिया था। खबर में आरोप लगाया गया था कि एनसीबी के अधिकारियों ने प्रसाद के साथ गलत व्यवहार किया।

विज्ञप्ति में कहा गया कि एनसीबी खबर में लगाए गए आरोपों को खारिज करता है। सिनेमा जगत-मादक पदार्थ के कथित जुड़ाव के मामले में एनसीबी की जांच के दौरान प्रसाद का नाम सामने आया था। जांच एजेंसी ने रविवार को अदालत को बताया था कि प्रसाद ने सह आरोपी करमजीत सिंह आनंद (Karamjeet Singh Anand) और उसके सहयोगियों से मादक पदार्थ खरीदा था ।

क्षितिज के वकील के एनसीबी पर आरोप

क्षितिज प्रसाद के वकील सतीश मानशिंदे ने एनसीबी पर सनसनीखेज आरोप लगाए थे। मानशिंदे ने दावा किया था कि एनसीबी द्वारा क्षितिज प्रसाद से कुछ बड़ी हस्तियों को फंसाने के लिए मजबूर किया गया था। गिरफ्तारी के बाद क्षितिज को कोर्ट में पेश किया गया था और उन्हें 6 दिनों के लिए एनसीबी की रिमांड में भेज दिया है। वहीं एक टीवी चैनल से क्षितिज ने कहा था कि उन्हें फ्रेम किया गया है।