Thane Corona: Corona attack in Kalyan jail, 30 prisoners found infected, hospitalized
File

    मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना (Corona Virus) का कोहराम जारी है। राज्य में लगातार रोज़ाना रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं। सख्त पाबंदियों के बावजूद लगातार हज़ारों की संख्या में कोरोना केस सामने आ रहे हैं और सैकड़ों मौतें (Corona Deaths) हो रही हैं। शनिवार को भी महाराष्ट्र में कोरोना की चपेट में आने से हुई मौतों और नए मामलों के रिकॉर्ड टूट गए। प्रशासन द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस की चपेट में आने से 419 लोगों की मौत (Death) हो गई जबकि 67,123 नए कोविड केस सामने आए हैं। यह आंकड़े शुक्रवार के मुकाबले कई ज़्यादा हैं।

    वहीं महाराष्ट्र के सबसे ज़्यादा प्रभावित शहरों में शुमार मुंबई में भी कोरोना के डरा देने वाले नए मामले सामने आए हैं। शनिवार को मुंबई में पिछले 24 घंटों में कोरोना की चपेट में आने से 52 लोगों की मौत हो गई जबकि शहर में 8,834 नए कोरोना मामले सामने आए हैं। राज्य भर में स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि, मुंबई सहित महाराष्ट्र के सभी कोरोना प्रभावित इलाकों में पाबंदियां और भी सख्त की जा सकती हैं। इस मामले में शनिवार को महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री (Health Minister) राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने कहा कि राज्य में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी से निपटने के लिए लागू पाबंदियां स्थिति को देखते हुए एक मई से भी आगे भी बढ़ायी जा सकती हैं।

    उन्होंने कहा, “हम स्थिति का जायजा ले रहे हैं। कोविड-19 के प्रसार पर अंकुश लगाने के लिए लागू सीआरपीसी की धारा 144 के उल्लंघन के कुछ मामले सामने आये हैं। हम इन पाबंदियों को 1 मई से आगे बढ़ा सकते हैं, यह स्थिति पर निर्भर करेगा। इन 15 दिनों के परिणामों (जब प्रतिबंध लागू होंगे) की समीक्षा करने के बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा।”

    इस बीच खबर है कि, मुंबई में बढ़ते कोरोना मामलों के बीच, मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा है कि, मुंबई में कोरोना की रफ्तार रोकने के लिए लिए बीएमसी की तरफ से किए जा रहे सभी उपाय विफल साबित हो रहे हैं। पहले नाइट कर्फ्यू (Night Curfew), वीकेंड लॉकडाउन (Weekend lockdown) और अब मिनी लॉकडाउन (Mini Lockdown) के बावजूद कोरोना संक्रमण रुकने के बजाय बढ़ता ही जा रहा है। मुंबई की हालत इस समय सबसे विकट हो चली है और अब मुंबई में कंप्लीट लॉकडाउन (Complete Lockdown) लगाना ही एकमात्र विकल्प बचा है।