महाराष्ट्र: जल्द ही राज्य के कॉलेज, यूनिवर्सिटी के कार्यक्रमों में राष्ट्रगान होगा अनिवार्य

मुंबई, महाविकास अघाड़ी सरकार के मंत्री और शिवसेना नेता उदय सामंत नेयह संकेत दिया है की शीघ्र ही राज्यों के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में राष्ट्रगान अनिवार्य हो सकता है। हालाँकि उन्होंने कहा है कि इस

मुंबई, महाविकास अघाड़ी सरकार के मंत्री और शिवसेना नेता उदय सामंत नेयह संकेत दिया है की शीघ्र ही राज्यों के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में राष्ट्रगान अनिवार्य हो सकता है। हालाँकि उन्होंने कहा है कि इस बाबत राज्य सरकार इस संबंध में जल्द ही एक आदेश जारी करेगी। उदय सामंत का मानना है इस कदम के चलते छात्रों में राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावना को और बढ़ावा मिलेगा। विदित हो कि राज्य के स्कूलों में अब प्रतिदिन संविधान की प्रस्तावना पढ़ने का आदेश पारित हो चूका है। 

सामंत ने अपने वक्तव्य में कहा है कि ‘जल्द ही ऐसा आदेश पारित होगा कि राज्य के समस्त कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में होने वाले कार्यक्रमों के पहले शुरुआत में राष्ट्रगान गाना अनिवार्य होगा। इससे छात्रों के बीच राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावना का संचार होगा।’ सामंत ने यह भी प्रस्ताव भी रखा कि कॉलेजों के नाम बोर्ड पर मराठी भाषा में होने चाहिए।

बता दें कि पहले ही महाराष्ट्र सरकार ने स्कूलों में हर दिन असेंबली के दौरान भारत के संविधान की प्रस्तावना पढ़ने का आदेश पारित कर चुकी है। इसके साथ ही उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने भी यह स्पष्ट किया था कि सभी स्कूलों में मराठी भाषा की पढ़ाई अनिवार्य होगी, बनिस्बत छात्र किसी भी माध्यम का हो।