mamta-modi

    कोलकाता. यह बात तो दुरुस्त है कि आज पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Bannerjee) ने जब बीते 2011 में 34 साल से सत्ता में काबिज CPM का पुरे दम से सफाया किया था तब उन्हें बंगाल के सेलिब्रिटीज (Bengal Celebrities) का भी काफी सपोर्ट रहा था। गौरतलब है कि इसमें टॉलीवुड (Tollywood) (बंगाल की टेलीविजन और फिल्म इंडस्ट्री) के सेलिब्रिटीज बड़ी संख्या में उनके साथ थे। अब CM ममता के इसी र्स्सते पर पर चलकर अब BJP ने भी कई सेलिब्रिटीज को अपने पाले में ले चुकी है या ला रही है। 

    जहाँ हाल ही में संघ प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) मुंबई में मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) से मिलना हो या बंगाल BJP के थिंक टैंक डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी रिसर्च फाउंडेशन के डायरेक्टर डॉ.अनिर्बान गांगुली का बंगाल के सबसे चर्चित अभिनेता प्रसेनजीत चटर्जी (Prasenjeet Chhaterjee) से मेल मिलाप हो। अभ इन सभी बातों को अगले विधानसभा चुनावों से जोड़कर भी देखा जा रहा है। इन सबसे यह साफ़ जाहिर है की ममता की तरह अब BJP बंगाल में अपना व्यापक असर रखने वाले बड़े सेलिब्रिटीज को अपने पाले में लाने की भरसक कोशिश में लगी है।

    चिरंजीत चक्रवर्ती: काम न होने से सेलिब्रिटीज आ रहे राजनीति में-

    लेकिन इन सबसे अलग TMC विधायक चिरंजीत चक्रवर्ती का कहना है कि, “पहले जहाँ हम साल में 75 से 80 फिल्में बनाते थे, अब बमुश्किल 30 से 40 फिल्में बन पा रही हैं। जो फिल्में बन रही हैं, उनमें भी अब दर्शक नहीं आ रहे। पहले बंगाल में 750 से ज्यादा सिनेमाघर थे, अब सिंगल स्क्रीन और मल्टीप्लेक्स मिलाकर बंगाल में सौ के करीब ही सिनेमाघर हैं। ऐसे में इंडस्ट्री के बहुत से लोगों के पास अब काम-धंधा भी नहीं है। ऐसे में बहुत सारे सेलिब्रिटीज BJP में इसलिए शामिल हो रहे हैं, ताकि उन्हें BJP के जरिए मुंबई में प्रवेश मिल सके। रही बंगाल की बात तो यहाँ अब सिनेमा का सालाना बिजनेस सौ करोड़ भी नहीं पहुँचता। लेकिन कभी यहाँ सिनेमा के जरिये 300-400 करोड़ रुपए कमाना आसान सी ही बात होती थी।”

    इसके साथ ही चक्रवर्ती का यह भी कहना था कि, “बंगाल में विधानसभा की जहाँ 294 सीटें हैं, वहीं बीजेपी के पास 294 जिताऊ चेहरे नहीं हैं, इसलिए अब वो हर छोटे-बड़े सेलेब्स को अपनी पार्टी में लेने की कोशिश में लगे हुए हैं।”

    साल 2001 जब ममता ने तापस पॉल को दी थी टिकट:

    गौरतलब है कि सेलिब्रिटीज को राजनीति में लाने का ट्रेंड शुरू करने वाली ममता बनर्जी ही अगुआ मानी जाती हैं। विदित हो कि जब 1998 ममता बनर्जी ने कांग्रेस से अलग होकर तृणमूल कांग्रेस (TMC) का गठन किया था तो पार्टी का आधार बनाने के लिए उन्होंने सेलिब्रिटीज को अपने साथ जोड़ना भी शुरू किया था। इसी के चलते ममता ने 1980-90 दशक के प्रसिद्ध बंगाली अभिनेता तापस पॉल को पार्टी में शामिल किया था, जो फिर 2001 में TMC से विधायक बने। यही नहीं वे दो बार पार्टी से सांसद भी रहे। वहीं पिछले साल दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था।

    MAMTA-TAPAS

    इतिहास: बंगाल में भारी बहुमत से जीतते आये हैं सेलेब्स: 

    बता दें कि साल 2009 में टॉलीवुड एक्ट्रेस शताब्दी रॉय TMC के टिकट पर लड़ीं और जीतीं। वे आज भी सांसद हैं। वहीं, देबोश्री रॉय ने 2011 में TMC ज्वॉइन की थी और CPM की कांती गांगुली को हराया था। इसी तरह साल 2014 के लोकसभा चुनाव में टॉलीवुड के प्रख्यात अभिनेता दीपक अधिकारी TMC के टिकट पर लड़े और भारी बहुमत से जीते भी। इसके साथ ही 2019 में भी उनकी जीत भी बरकरार रही। इसके पहले 2014 में मुनमुन सेन भी TMC के टिकट पर लड़कर जीती थीं, लेकिन इसके बाद साल 2019 में BJP के बाबुल सुप्रियो के हाथों वे हार गईं। सोहम चक्रवर्ती भी इसी साल TMC से जुड़े थे। वहीं 2019 में नुसरत जहां और मिमी चक्रवर्ती TMC में शामिल हुईं और दोनों ने ही अपनी जीत दर्ज की थी।

    इस बार BJP के पाले में कौन-कौन हुआ शामिल:

    अगर बीजेपी का खेमा देखें तो इस बार क्रिकेटर अशोक डिंडा, यश दासगुप्ता, हिरण चटर्जी, पापिया अधिकारी, सौमिली घोष बिस्वास, पायल सरकार, राज मुखर्जी, मल्लिका बनर्जी, अशोक भद्र, मीनाक्षी घोष, अंजना बासु, रुद्रनील घोष, परनो मित्रा, ऋषि कौशिक, कंचना मोइत्रा, रूपंजना मित्रा जैसे कई बंगाली दिग्गज सिने कलाकार बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। वहीं दुसरे नामी कलाकार जैसे  रूपा गांगुली, बाबुल सुप्रियो, लॉकेट चटर्जी पहले ही BJP में शामिल होकर चुनाव जीत चुके हैं।

    कौन-कौन शामिल हुआ TMC में :

    इधर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता दी भी हमेशा की तरह इस बार इस बार भी बंगाली सेलिब्रिटीज को अपनी पार्टी में शामिल कराने को लेकर बिलकुल भी पीछे नहीं हैं। इनमे क्रिकेटर मनोज तिवारी, जून मालिया, सयानी घोष, कांचन मल्लिक, राज चक्रवर्ती, दीपांकर दे, कौशानी मुखर्जी, भरत कौल, श्रीतामा भट्टाचार्जी, रोनिता दास, सीरियल अभिनेत्री लवली मित्रा, संगीत कलाकार रशीद खान की पुत्री अभिनेत्री सायनी खान अब तक TMC के खेमें में आ चुके हैं। खबर यह भी आ रही है कि इस बार क्रिकेटर मनोज तिवारी को हावड़ा से टिकट भी दिया जा सकता है, क्योंकि वहां बड़ी संख्या में हिंदी भाषी रहते हैं, जिनके बीच मनोज काफी लोकप्रिय हैं। लिहाजा वे वहां TMC और ममता के लिए लाभप्रद साबित हो सकते हैं।