Man flies solo in a Mumbai-Dubai 360-seater flight, pays on Rs. 18,000, know the whole matter
Representative Photo

    मुंबई: एक अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट (International Flight) के लिए लोगों को हज़ारों या लाखों रुपये चुकाने पड़ते हैं। लेकिन हाल ही में मुंबई (Mumbai) से दुबई (Dubai) की एक फ्लाइट में एक यात्री (Passenger) ने पूरे पलने में अकेले सफर किया और इसके लिए उसने महज़ 18 हज़ार रुपये ही चुकाए। यह विश्वास करने में थोड़ा मुश्किल लग सकता है लेकिन यह सच है। एक व्यक्ति ने 18,000 रुपये का भुगतान किया और 19 मई को मुंबई से दुबई के लिए अमीरात की 360-सीटर बोइंग 777 विमान की उड़ान में एकमात्र यात्री के रूप में यात्रा की। 40 वर्षीय भावेश जावेरी नाम के इस यात्री ने इस प्रकार से 360-सीटर बोइंग 777 विमान पर एक विशेष उड़ान का आनंद लिया।

    टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, अपने सफर के दौरान, भावेश जावेरी ने क्रू के साथ-साथ कमांडर के साथ बातचीत की, जिसने उन्हें पूरे विमान का दौरा करने की पेशकश की। चूंकि 18 उनका लकी नंबर है, इसलिए भावेश जावेरी को वह विशिष्ट सीट मिली, जो उन्होंने मांगी थी, जिससे उन्हें बहुत खुशी हुई। रिपोर्ट में भावेश जावेरी के हवाले से कहा गया है कि उन्होंने कहा, “मैंने विमान में कदम रखा और सभी एयरहोस्टेस ने मेरा स्वागत करने के लिए ताली बजाई।” भावेश ने बताया कि, वे अब तक करीब 240 यात्राएं कर चुके हैं और उन्होंने कहा कि, “यह अब तक की मेरी सबसे अच्छी यात्रा थी।”

    रिपोर्ट में भारतीय विमान चार्टर उद्योग के एक ऑपरेटर के हवाले से कहा गया है कि, “मुंबई-दुबई मार्ग के लिए एक एयरलाइन से बोइंग 777 को चार्टर करने में लगभग 70 लाख रुपये खर्च करने पड़ सकते हैं।” 

    दरअसल, कोरोना के मद्देनजर यूएई द्वारा लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों के अनुसार, केवल संयुक्त अरब अमीरात के नागरिक, यूएई गोल्डन वीजा धारक और राजनयिक मिशन के सदस्य भारत से यूएई के लिए ही फ्लाइट ले सकते हैं। भावेश यूएई के गोल्डन वीजा होल्डर हैं ऐसे में उन्हें सफर करने की इजाज़त मिली थी। हालांकि भावेश ने बताया कि, वे अक्सर बिज़नेस क्लास से ट्रैवल करते हैं लेकिन कोरोना के चालते उन्होंने इस बार इकोनॉमी क्लास की टिकट बुक करवाई थी क्यूंकि वे जानते थे कि फ्लाइट में वैसे भी कम ही यात्री होंगे। 

    भावेश ने बताया कि, उन्होंने अकेले यात्री होने की बात का पता तब चला जब उन्होंने अपनी ट्रेवल डेट कन्फर्म करने के लिए एयरलाइंस को कॉल किया था। हालांकि उन्हें पहले तो इस बात का यकीन नहीं हुआ था लेकिन जब वे फ्लाइट में पहुंचे तब उन्हें पता चला कि, वे इतने बड़े एयर क्राफ्ट में अकेले सफर कर रहे थे।