प्रधानमंत्री मोदी के सोशल मीडिया वाली खबर पर लग रहे कयास,राहुल ने भी दी नसीहत

नई दिल्ली,जब से प्रधानमंत्री मोदी ने फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब छोड़ने की बात की है तब से लोगो के बीच तमाम तरह के कयास लगे जा रहे हैं। लोई कह रहा है कि आनेवाले रविवार को मोदी सोशल मीडिया

नई दिल्ली,जब से प्रधानमंत्री मोदी ने फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब छोड़ने की बात की है तब से लोगो के बीच तमाम तरह के कयास लगे जा रहे हैं। कोई कह रहा है कि आनेवाले रविवार को मोदी सोशल मीडिया से अलविदा कहेंगे वहीं किसी का सोचना है कि वे शायद संपर्क का कोई नया ही विचार लेकर आ रहे है। वहीँ इस पार राजनीतिक दल में अपनी समझाइश मोदी को दे रहें हैं। 

विदित हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल कहा था कि वे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब छोड़ने पर विचार कर रहे है। इस बाबत उन्होंने खुद यह जानकारी लोगो से शेयर की थी। आपको यह भी बता दें कि उनके आधिकारिक फेसबुक पेज पर 44,598,804 फॉलोवर्स है, वहीं पेज को लाइक करनेवालों की संख्या 44,723,734 है। ट्विटर पर जहाँ प्रधानमंत्री मोदी को 53.3 मिलियन लोग फॉलो करते है। वहीं इंस्टाग्राम पर प्रधानमंत्री मोदी के 35.2 मिलियन फॉलोवर्स है। इसके अलावा यूट्यूब पर भी प्रधानमंत्री मोदी के 4.51 मिलियन सब्सक्राइबर्स हैं। मोदी सोशल मीडिया में बहुत एक्टिव रहे हैं। हम यह भी कह सकते हैं की सेल्फी का क्रेज भी उनकी ही देन है। 

अब जब से उन्होंने इसे छोड़ने का मन बनाया है तब से लोगो में कयास है की वह शायद संपर्क का कोई नया ही विचार लेकर आयेंगे। इस पर बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय कहना है कि "जितना बेहतरीन सोशल मीडिया का इस्तेमाल प्रधान मंत्री मोदी ने किया है उतना तो शायद ही दुनिया के किसी अन्य राजनेता ने किया होगा। अब अगर वह सोशल मीडिया को छोड़ने की बात कर रहे हैं तो निश्चित रूप से उनके दिमाग में कुछ बात तो चल ही रही होगी। लेकिन इस पर अभी अटकलें लगाना उचित प्रतीत नहीं होता। 

हालाँकि प्रधानमंत्री के इस कथन पर राजनीति भी खूब हो रही है वहीं सोशल मीडिया पर #NoModiNoTwitter का ट्रेंड भी चल पड़ा है। एक तरफ जहाँ कांग्रेस के कद्दावर नेता राहुल गाँधी उन्हें नफरत को छोड़ने की नसीहत दी है।उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि ‘नफरत को छोड़िए, सोशल मीडिया को नहीं।’ वहीं आम जनता ने उन्हें ऐसा कोई कदम नहीं लेने की गुजारिश भी की है। 

चाहे जो भी हो हम इस पर कयास ही लगा सकते हैं और आने वाले रविवार का इंतजार जब प्रधानमंत्री मोदी अपने अगले कदम का खुलासा करेंगे।