modi rojgaar do

    नयी दिल्ली. बीते सोमवार की रात से ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के नाम से कई यूँ तो कई अभियान चलाए रहे हैं जो इस समय काफी भी ट्रेंड कर रहे हैं। इनमें से  #modi_rojgar_दो, #modi_girlfriend_do और #modi_boyfriend_do जैसे हैशटैग शामिल हैं। लेकिन इन सबके परे #modi_rojgar_दो पर 70 लाख+ से ज्यादा ट्वीट रोजगार के मुद्दे पर देश के अलग-अलग राज्यों के नौजवान कर चुके हैं

    गौरतलब है कि देश में बेरोजगारी को लेकर युवाओं ने अब एक मुहिम छेड़ रखी है। वहीं अब ट्विटर से लेकर यूट्यूब, फेसबुक तक छात्र रोजगार के लिए मोदी सरकार को घेर रहे हैं। ‘#modi_job_do’ और ‘#मोदी_रोजगार_दो’ ट्विटर के साथ-साथ फेसबुक और यूट्यूब पर दोनों ही तरफ ट्रेंड कर रहा है। वहीं 60 लाख+ से ज्यादा ट्वीट रोजगार के मुद्दे पर देश के अलग-अलग राज्यों के नौजवान भी अब तक कर चुके हैं

    जहाँ हैशटैग ‘#modi_job_do’, #मोदी_रोजगार_दो और ‘#modi_rojgar_do’ के जरिए कई अब देश के युवा रोजगार के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेर रहे हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से रोजगार की अपनी जोरदार मांग कर रहे हैं। वहीँ अब इस हैशटैग पर बीते 2-3 दिनों में 20-25 लाख ट्वीट किए जा चुके हैं। इसके अलावा मंगलवार को एक और हैशटैग #cgl19marks भी ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा, इस पर भी 40+ लाख से ज्यादा ट्वीट किए जा चुके हैं।

    आपको बता दें कि 25 फरवरी को छात्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से अपनी कुछ मांगों को लेकर #modi_rojgar_do #modi_rojgar_दो हैशटैग चलाने वाले थे लेकिन यह ट्विटर और यूट्यूब (Twitter and Youtube) पर यह पहले ही चल गया और दो दिनों में 20 लाख से ज्यादा ट्वीट भी हो चुके हैं। 

    छात्रों द्वारा हुई इस अभियान की शुरुआत:

    इससे पूर्व भी प्रतियोगी परिक्षाओं को लेकर छात्र केंद्र के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान चला चुके हैं। जब कोरोना महामारी के समय में परीक्षाओं को स्थगित किया गया था उस वक्त उन्होंने ‘मैं भी बेरोजगार हूं’ अभियान चलाया था और अब वह ‘मोदी रोजगार दो’ अभियान की शुरुआत कर रहे हैं। दरअसल, यह अभियान कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल (सीजीएल) टियर-2 परीक्षा के परिणाम को लेकर चलाया जा रहा है जो 19 फरवरी को जारी हुआ था और छात्रों ने 15, 16 और 18 नवंबर को आयोजित हुई परीक्षा के परिणाम की प्रक्रिया पर सवाल उठाए।

    अब मिल रही रिपोर्ट्स के मुताबिक, विरोध कर रहे छात्रों का आरोप है कि 18 नवंबर को आयोजित हुई परीक्षा आसान थी और छात्रों ने 200 अंक में 200 अंक तक हासिल किए लेकिन जब परीक्षा परिणाम जारी हुआ तो कई छात्रों का चयन नहीं हुआ। वहीं छात्रों का यह भी कहना है कि 18 नवंबर वाली परीक्षा में 100 नंबर तक काट दिए गए हैं जबकि 15 और 16 नवंबर के दिन जिनकी परीक्षा हुई थी उनमें से कई लोगों के नंबर 50 से 80 तक बढ़ाए गए हैं। छात्रों को यह समझ में नहीं आ रहा है कि ऐसा किस प्रक्रिया के तहत किया गया है और इसी को लेकर वो सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा प्रकट कर रहे हैं।

    ट्रेंड पर जारी है राजनीति भी: 

    जहाँ बीते रविवार को #modi_job_do ट्विटर पर टॉप ट्रेंड रहा। वहीं अब इस कैंपेन पर आ रही विभिन्न प्रतिक्रियाओं को देखते हुए विपक्षी दलों के नेताओं ने भी अब इस हैशटैग को आगे बढ़ाया। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, कि फ़ेल सरकार महँगाई की मार बेरोज़गारी की सब हदें पार! #modi_job_do। ठीक राहुल गांधी के इस ट्वीट को कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी रीट्वीट किया। इसके साथ ही कई अन्य राजनेताओं ने इस पर अपने ट्वीट के जरिये अपने विचार प्रकट किये हैं।

    इस प्रकार से ऐसा लग रहा है कि ‘#modi_job_do’, #मोदी_रोजगार_दो और ‘#modi_rojgar_do’ अब शायद एक नए कीर्तिमान के तरफ बढ़ेगी। वैसे आज ही केंद्र सरकार (Central Goverment) ने सोशल मीडिया (Social Media) और ओवर-द-टॉप (OTT) प्‍लेटफॉर्म्‍स के लिए एक जन हितार्थ गाइडलाइंस (Guidelines) जारी कर दी हैं।