Rain at many places in East Rajasthan
File Photo

    नयी दिल्ली. दक्षिण पश्चिम मानसून (south west monsoon) के अगले दस दिनों में ओडिशा (Odisha), झारखंड (Jharkhand), पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कुछ हिस्सों और बिहार (Bihar) में पहुंचने का अनुमान है। यह जानकारी शनिवार को मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने दी। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि दक्षिण पश्चिम मानसून मध्य अरब सागर, कर्नाटक के तटीय क्षेत्रों, गोवा, महाराष्ट्र के कुछ हिस्से, कर्नाटक के अंदरूनी हिस्से, तेलंगाना के कुछ हिस्से और आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु के कुछ हिस्सों, मध्य बंगाल की खाड़ी और बंगाल की खाड़ी के पूर्वोत्तर हिस्सों तक पहुंच चुका है।

    आईएमडी के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र के राजेंद्र जेनामानी ने कहा कि सात-आठ जून को कम बारिश होने का अनुमान है। उन्होंने कहा, “11 जून तक बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इससे मानसून की प्रगति में सहयोग मिलेगा और इसके ओडिशा, झारखंड, पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों और बिहार की तरफ बढ़ने की संभावना है।”

    मानसून दो दिनों की देरी से तीन जून को केरल पहुंचा था। आईएमडी ने जून में सामान्य बारिश होने का अनुमान जताया है। इसने कहा कि अगले पांच दिनों तक देश में लू की स्थिति बनने की संभावना नहीं है।

    आईएमडी ने कहा कि राजस्थान के अधिकतर हिस्से, उत्तर प्रदेश के कुछ स्थानों, हरियाणा, सौराष्ट्र और गुजरात के कच्छ तथा ओडिशा में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा। सबसे अधिक 43.2 डिग्री सेल्सियस तापमान उत्तरप्रदेश के बांदा में दर्ज किया गया।

    आईएमडी ने कहा, “अगले पांच दिनों तक देश में लू की स्थिति नहीं होने का अनुमान है।” इस बीच उत्तर भारत सहित देश के कई हिस्सों में बारिश हो रही है। (एजेंसी)