vidisha

    विदिशा. एक बड़ी खबर के अनुसार मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के विदिशा (Vidisha) जिले के गंजबासौदा (Ganjbasoda) में गुरुवार रात को कुएं में फिसलकर गिरी एक छोटी बच्ची को बचाने के चलते उसकी मेड़ पर खड़े दो दर्जन से ज्यादा लोग अचानक मिट्टी धंसने से इसी कुएं में गिर (More Than 24 People Fell In Well) गए और उसी मलबे में दब गए।  इनमें से 19 लोगों को तो फिलहाल सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है, वहीं 4 लोगों की मौत हो गई है।  यह बचाव कार्य आधी रात के बाद भी जारी रहा।  फिलहाल प्रशासन ने घटना की उच्चस्तरीय जांच कराने के जरुरी निर्देश दिए गए हैं। 

    50 फुट गहरे कुएं में गिरे दो दर्जन लोग:

    हालांकि, अब तक इस बात का पता नहीं चल पाया है कि कुल कितने लोग फिलहाल इस मलबे में दबे हैं। यह कुआं करीब 50 फुट गहरा है और इसमें लगभग 20 फुट तक गहरा पानी बताया गया है। इस मुद्दे पर विदिशा जिले के प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग कक्काहना था कि अब तक 19 लोगों को बचा लिया गया है। उन्हें इलाज के लिए फ़ौरन अस्पताल में भेज दिया गया है।  इस कुएं के पानी को मशीनों के जरिए बाहर निकाला जा रहा है। उन्होंने कहा कि बचाव अभियान फिलहाल जारी है जिसे पूरा होने में अभी और समय लगेगा। 

    क्या था  हादसा:

    इधर इस घटना में इकुएं में गिरने के बाद बचाए गए कुछ लोगों ने बताया कि कुएं में गिरी एक बच्ची को बचाते समय यह भयंकर हादसा हुआ।  उसे बचाने के लिए कुछ लोग इस कुएं में उतर गए, वहीं करीब 40-50 लोग उनकी मदद करने और देखने के लिए कुएं की मेड़ और छत पर ही भीड़ लगाकर खड़े हो गए।  इसी बीच लोगों के वजन के के चलते कुएं की छत ढह गई, जिससे करीब 25-30 लोग उसी कुएं में गिर गए। 

    ग्रामीणों ने तुरंत शुरू किया अपना बचाव कार्य:

    उन्होंने इस घटना पर यह भी बताया कि उन दोनों सहित करीब 12 लोगों को वहां मौजूद ग्रामीणों ने कुएं से रस्सियों की मदद से बाहर निकाला और उन्हें बचा लिया।  दोनों को ही फिलहाल मामूली चोट आई है।  दरअसल कुएं की छत पर जो लोहे की रॉड लगी थी, वह सड़कर गल चुकी थी।  इसलिए वह वजन के चल्रते टूट गई और यह भयानक हादसा हो गया । 

    कुंए में गिरा एक ट्रैक्टर भी: 

    इधर घटना के कुछ चश्मदीदों के मुताबिक, रात करीब 11 बजे बचाव कार्य में लगा एक ट्रैक्टर भी इसी कुएं में गिर गया, जिससे 4 पुलिसकर्मियों सहित कुछ लोग भी इस कुएं में गिर गए।  इनमें से 3 पुलिसकर्मियों और कुछ अन्य लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। 

    इससे पहले, मध्य प्रदेश के CM शिवराज सिंह चौहान ने घटना के संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों को तत्काल राहत और बचाव कार्य चलाने के निर्देश दिए।  उन्होंने घटनास्थल पर मौजूद DM और SP से बात कर घटना के संबंध में जरुरी जानकारी ली और बचाव अभियान को तेज गति से चलाने के निर्देश दिए।  उन्होंने कहा कि राहत और बचाव कार्य के लिए भोपाल से SDRF और NDRF की टीमें भी पहुंच गई हैं। 

    CM शिवराज ने जताया दुख और शोक :

    इधर CM शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, गंजबासौदा में हुई इस भयंकर दुर्घटना में अब तक 2 लोगों के निधन की दुखद खबर मिली है, उनके शव निकाले जा चुके हैं।  मैं उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और ईश्वर से यह प्रार्थना भी करता हूं कि वे दिवंगत आत्माओं को शांति दें।  बचाव कार्य अभी जारी है, मैं लगातार इस घटना की मॉनिटरिंग कर रहा हूं। 

    इस प्रकार मुख्यमंत्री ने बताया कि घटनास्थल पर चल रहे राहत और बचाव कार्यों की खुद निगरानी कर रहे हैं।  इसके साथ ही उन्होंने घटना की उच्च स्तरीय जांच और पीड़ितों को हर संभव मेडिकल सहायता उपलब्ध कराने के जरुरी निर्देश फ़ौरन दे दिए हैं।  वहीं मौके पर पहुंचे विदिशा जिले के एसपी विनायक वर्मा ने कहा, ‘मैं अभी यही कह सकता हूं कि बचाव अभियान चल रहा है। ’ इसके साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि, “मृतकों के परिवारजनों को 5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और घायलों को 50,000 रुपये एवं निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी। “