मोदी 15 साल गुजरात के मुख्यमंत्री रहे फिर भी गरीबी दूर क्यों नहीं हुई : शिवसेना

मुंबई. शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गुजरात में झोपड़ियां छिपाने के प्रयासों पर निशाना साधा हैं। शिवसेना ने कहा कि, ''नरेंद्र मोदी 15 वर्ष तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे हैंं फिर वहां की गरीबी

मुंबई. शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गुजरात में झोपड़ियां छिपाने के प्रयासों पर निशाना साधा हैं। शिवसेना ने कहा कि, ‘नरेंद्र मोदी 15 वर्ष तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे हैंं फिर वहां की गरीबी दूर क्यों नहीं की?’। शिवसेना ने यह बात अपने मुख पत्र सामना से की हैं।

जानकारी के लिए बतादें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प 24 फरवरी 2020 को भारत के दौरे पर आने वाले हैं। जिसके चलते गुजरात के अहमदाबाद में स्थित झोपड़ियों को छिपाने स्थानीय नगर निगम दिवार खड़ी कर रहा हैं।

यह भी पढ़े : शिवसेना विधायक भास्कर जाधव को मिली कुर्सी फिर भी नाराज, जाने पूरा मामला

सामना के संपादकीय में लिखा गया हैं कि ट्रंप अहमदाबाद हवाईअड्डे पर उतरेंगे और उन्हें सड़क मार्ग से ले जाया जाएगा। ट्रंप के तीन घंटे के दौरे के लिए 100 करोड़ रुपये खर्च किये जा रहे हैंं।

17 सड़कों पर नया काम चल रहा हैं और सड़क के किनारे बने झोपड़ियों को छिपाने के लिए ऊंची-ऊंची दीवारें खड़ी की जा रही हैंं। शिवसेना ने कटाक्ष करते हुए लिखा हैं कि ट्रंप की नजर से गुजरात की गरीबी और झोपड़ियां बच जाएं इसके लिए यह राष्ट्रीय योजना हाथ में ली गयी हैं।

यह भी पढ़े : हम सपने नहीं दिखाते, बल्कि उसे साकार करते हैं – उद्धव ठाकरे

संपादकीय में लिखा हैं कि "भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने ‘गरीबी हटाओ’ का नारा लगाया था। जिसका लंबे समय तक मजाक उडाया गया था। ऐसा लगता हैं कि अब मोदी की योजना ‘गरीबी छिपाओं’ हैं।

यह भी पढ़े : ‘उद्धव सरकार’ खतरें में! शरद पवार ने मंत्रियों को दी यह सलाह

सामना में लिखा हैं कि, ‘सवाल सिर्फ इतना हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विकास पुरूष हैंं और उनसे पहले किसी ने विकास नहीं किया और शायद बाद में भी कोई विकास नहीं करेगा। मोदी गुजरात में 15 साल तक मुख्यमंत्री रहे और पांच वर्ष से प्रधानमंत्री हैंं फिर भी गुजरात की गरीबी और बदहाली छिपाने के लिए दीवार खड़ी करने की नौबत क्यों आयी? इस तरह का सवाल अमेरिका की मीडिया भी पूछ सकती हैं।’