बड़ा खुलासा : सचिन वाजे और मनसुख हिरेन की हुई थी मुलाकात

    मुंबई. उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की 28 मंजिला अट्टालिका ऐंटीलिया के पास जिलेटिन छड़ों से भारी स्कार्पियो मिली थी। जिसके कुछ दिनों बाद ही मनसुख हिरेन (Mansukh Hiren) की लाश मुंबई से सटे मुंब्रा इलाके की खाड़ी में पाई गई। इस दोनों मामलों में सचिन वाजे (Sachin Vaze) की संलिप्तता का अंदेशा है। बता दें कि, इसी मामले को लेकर आज ठाणे कोर्ट नें सचिन वाजे (Sachin Vaze) की अग्रिम जमानत याचिका पर होनी है। इस बीच मामले की जांच कर रही  NIA और ATS को 17 फरवरी का सीसीटीवी फुटेज हाथ लगा है जिसमें मनसुख हिरेन और सचिन वाजे एक साथ दिखाई दे रहे हैं। माना जा रहा है कि, फुटेज से बड़ा खुलासा हो सकता है।  

    रिपोर्ट के अनुसार दोनों के बीच मुंबई के फोर्ट इलाके में मर्सिडीज में 10 मिनट की मीटिंग भी हुई थी। मनसुख हिरेन ने अपने बयान में बताया था कि, 17 फरवरी को उन्होंने अपनी स्कोर्पियो कार विक्रोली हाई वे पर छोड़ दिया था और टैक्सी से क्रॉफर्ड मार्किट गये थे। दूसरे दिन जानकरी मिली थी कि, स्कोर्पियो कार चोरी हो गई है। गौरतलब हो कि, मनसुख का वो बयान खुद सचिन वाजे ने लिया था और उसमें 17 फरवरी को खुद मिलने का ज़िक्र नहीं किया था।

    वही स्कोर्पियो कार 25 फरवरी को मुकेश अंबानी के घर के पास पार्क मिली थी और उसमें धमकी भरे पत्र के साथ जिलेटीन भी मिला था। आज अदालत के सामने ATS अभी तक मिले सबूतों को रख सचिन वाजे का प्रोडक्शन वारंट मांग सकती है।  

    सचिन वाजे  फिलहाल NIA की कस्टडी में रखा गया है। NIA की कस्टडी खत्म होते ही ATS को सचिन वाजे की कस्टडी मिल सकती है। इसके पहले सुनवाई के दौरान ठाणे की अदालत ने मनसुख की हत्या को संगीन मामला बताते हुए कस्टोडियल इंटेरोगेशन की आवश्यक्ता बताते हुए वाजे को इंटरिम प्रोटेक्शन देने से इनकार कर दिया था। NIA ने उसके दूसरे दिन ही वाजे को गिरफ्तार कर लिया था।